• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Police's Indecent Behavior With Hindu Jagran Manch Workers, Controversy Arose Over Being Called A Thief, Nahan Shimla Highway Was Restored At 2 O'clock In The Night

नाहन-शिमला हाईवे पर आधी रात को चक्का जाम:चोर कहने पर उपजा विवाद; हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं से पुलिस का अभद्र व्यवहार, रात 2 बजे बहाल हो पाई सड़क

शिमला/नाहन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नाहन में रात को हुए हंगामे में युवाओं को समझाते पुलिस कर्मी। - Dainik Bhaskar
नाहन में रात को हुए हंगामे में युवाओं को समझाते पुलिस कर्मी।

हिमाचल प्रदेश के नाहन में हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने देर रात चार घंटे तक नाहन-शिमला राष्ट्रीय मार्ग पर जाम लगा दिया। रात नौ बजे पुलिस के साथ उपजे विवाद के बाद मंच के कार्यकर्ताओं ने नाहन के दिल्ली गेट के पास सड़क ब्लॉक कर दी। दिल्ली गेट पर तीन घंटे जाम के बाद कार्यकर्ताओं ने नाहन माल रोड पर भी दो घंटे जाम लगाया।

मंच के कार्यकर्ताओं का कहना था कि वह हनुमान मंदिर में पूजा अर्चना कर रहे थे और पुलिस कर्मियों ने उन्हें वहां से जाने को कहा, जिसके बाद यहां पर विवाद हो गया। मंच के कार्यकर्ता पुलिस कर्मियों से माफी मांगने पर अड़े रहे। साथ ही पुलिस कर्मियों को अपने पास बुलाने पर अड़े रहे। पुलिस ने भी कार्यकर्ताओ को समझाने की बहुत कोशिश की, मगर वे अपनी बात पर अड़े रहे।

कार्यकर्ताओं ने कहा कि पुलिस के जवान, जिन्होंने उनके साथ बदतमीजी की और उन्हें चोर कहा, उन्हें मौके पर बुलाया जाए और सबके समने माफी मांगें, तभी जाम और धरना खत्म किया जाएगा। मगर पुलिस ने स्थिति को भांपते हुए अपने आला अधिकारियों को मौके पर बुलाना उचित समझा। पुलिस अधिकारियों ने कार्यकर्ताओं से कहा कि कुछ लोग मंदिर में आएं, हम पुलिसकर्मी को वहां बुलाकर माफ़ी मंगवा देते हैं।

सबके सामने माफी मांगने पर अड़े रहे

हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ता सभी के सामने पुलिसकर्मी को बुला कर सबके सामने माफ़ी मांगने को कहा, जिसके चलते विवाद बढ़ता ही गया। रात डेढ़ बजे पुलिस अधिकारियों के आश्वाशन पर हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने जाम और धरना ख़त्म किया। क्योंकि एम्बुलेंस के अलावा सैंकड़ों वाहन जाम में फंसे थे।

धरने पर बैठे युवा।
धरने पर बैठे युवा।

पुलिस कर्मियों ने की बदतमीजी

हिन्दू जागरण मंच के महासचिव मानव शर्मा ने कहा कि आज हिन्दू युवा अपने मंदिर में पूजा अर्चना नहीं कर सकता। ट्रेंड बन चुका है कि अपनी मांगें प्यार से नहीं मनवाई जा सकती, सड़कों पर आना पड़ता है। हिन्दू समाज के लड़के भी सड़कों पर आ गए हैं। हम सब हनुमान मंदिर में आरती और पूजा पाठ कर थे। उसके बाद हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ता अगले दिन की रूपरेखा तैयार कर रहे थे।

इतने मे पुलिस के दो कर्मी आए और हमें सीधे-सीधे कहने लगे कि यहां फालतू नहीं बैठना। हमने सभ्य तरीके कहा कि हमारी आरती हुई है। हम कुछ देर में चले जाएंगे। पुलिस कर्मी के कहा कि क्या तुम यहां बैठकर चोरी करोगे। हमने कहा कि हम चोर नहीं है, इतनी बात पर हमारी बात बिगड़ी। पुलिस ने हमें कहा कि यहां चोरी हो चुकी है तो हमने कहा कि मसला हमारे समझ में आ गया है। 10 मिनट में चले जाएंगे।

एक पुलिस कर्मी कहता है कि में तुम्हे अंदर डाल दूंगा। अगर हमने कोई पाप या चोरी कि है तो हमें बताए। इसको लेकर हमने पुलिस के अधिकारियों से बात की। हिन्दू युवाओं को चोर बोलने पर यह विवाद हुआ। अगर पुलिस कर्मी हमारे युवाओं से गले मिल जाते तो इतना हंगामा नहीं होना था। डीएसपी मीनाक्षी ने धरने पर बैठे युवाओं को आश्वाशन दिया कि उनकी मांग पर गहनता से विचार करके कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...