• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Pratibha Singh Will File Nomination From Mandi Parliamentary Seat On October 8, Without Bid Virbhadra Singh Contesting For The First Time

मंडी से कांग्रेस प्रत्याशी का भाजपा पर हमला:प्रतिभा सिंह 8 अक्टूबर को भरेंगी नामांकन; बोलीं- वीरभद्र सिंह के बिना पहली बार लड़ रहे चुनाव, नया ही अनुभव होगा

शिमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिमला में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान प्रतिभा सिंह के साथ में उनके बेटे विक्रमादित्य सिंह। - Dainik Bhaskar
शिमला में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान प्रतिभा सिंह के साथ में उनके बेटे विक्रमादित्य सिंह।

मंडी संसदीय लोकसभा सीट से पूर्व मुख्यमंत्री स्व. वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह 8 अक्टूबर को नामांकन दाखिल करेंगी। प्रतिभा सिंह ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान केंद्र और राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा। कांग्रेस ने प्रतिभा सिंह को मंडी से चुनावी मैदान में उतारा है।

वहीं प्रतिभा सिंह ने भी वीरभद्र सिंह के नाम के साथ चुनावी मैदान में उतरने की बात कही है। उन्होंने कहा कि ऐसा पहली बार हो रहा है कि कांग्रेस हिमाचल में बिना वीरभद्र सिंह के चुनाव लड़ रही है। लेकिन वह वीरभद्र सिंह के नाम के साथ चुनाव में उतर रहे हैं। यह अपने आप में एक नया अनुभव होगा। उन्होंने उम्मीदवार बनाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल और प्रियंका गांधी का आभार जताया।

पत्रकारों से बात करतीं प्रतिभा सिंह।
पत्रकारों से बात करतीं प्रतिभा सिंह।

वीरभद्र सिंह की तुलना राम से
प्रतिभा सिंह का कहना है कि वीरभद्र सिंह की कमी महसूस हो रही है, लेकिन राम नहीं तो राम का नाम बहुत है। प्रतिभा ने कहा कि कुछ समय पहले उनके छोटे भाई का भी देहांत हो गया। ऐसे में वह दुविधा में थीं कि क्या करूं। मंडी की जनता के साथ संवाद किया। मंडी के लोगों ने उनसे आग्रह किया कि वह चुनाव लड़ें और उन्होंने चुनाव लड़ने का मन बना लिया। अब वह 8 अक्टूबर को नामांकन पत्र दाखिल करेंगी। कांग्रेस प्रत्याशी ने कहा कि जनता के दरबार में वीरभद्र सिंह के कार्यों को लेकर जाएंगे। साथ ही बेरोजगारी और महंगाई बड़ा मुद्दा है, जिन्हें वे जनता के बीच ले जाएंगे।

जयराम सरकार ने नहीं किया विकास कार्य
प्रतिभा सिंह ने जयराम सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि साढ़े तीन साल में कोई विकास कार्य नहीं हुआ। आज युवा बेरोजगार घूम रहे हैं। सरकार इस पर कोई ध्यान नहीं दे रही। इस बार मुख्यमंत्री मंडी से प्रदेश को मिला है। लेकिन प्रदेश का विकास तो दूर की बात, वे अपने गृह क्षेत्र का भी विकास नही करवा पाए। लोग इस सरकार से दुखी हैं और जनता कांग्रेस का साथ देगी। पूर्व की वीरभद्र सरकार ने मंडी सहित प्रदेश में विकास किया है। वीरभद्र सिंह भले हमारे बीच में नहीं हैं, लेकिन वे लोगों के दिलों में हमेशा रहेंगे।

खबरें और भी हैं...