• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Protocol Not Being Followed In Public Meetings And Rallies, The Election Officer Of Mandi Parliamentary Constituency Issued Instructions To The Candidates

कोविड प्रोटोकॉल की अनुपालना पर चुनाव आयोग सख्त:जन सभाओं और रैलियों में नहीं हो रहा प्रोटोकॉल का पालन, मंडी संसदीय क्षेत्र के चुनाव अधिकारी ने उम्मीदवारों को जारी किए निर्देश

शिमला7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एक चुनावी रैली के दौरान उमड़ी भीड़, सोशल डिस्टेंसिंग गायब। - Dainik Bhaskar
एक चुनावी रैली के दौरान उमड़ी भीड़, सोशल डिस्टेंसिंग गायब।

हिमाचल प्रदेश में हो रहे उप-चुनावों में कोविड प्रोटोकॉल की अवहेलना पर निर्वाचन आयोग सख्त हो गया है। आयोग में सभी दलों के प्रत्याशियों और निर्दलीय उम्मीदवारों को कोविड प्रोटोकॉल पालना करने को लेकर आदेश जारी किए हैं। ऐसा ना करने की स्थिति में प्रत्याशियों को आने वाले समय में प्रचार-प्रसार में परेशानी हो जाएगी। हिमाचल प्रदेश में उप-चुनाव धीरे-धीरे रफ्तार पकड़ने लग गया है। प्रचार के साथ-साथ जन-सभाओं का दौर भी तेज हो हुआ। उप-चुनावों में खड़े हुए प्रत्याशी एक ही दिन में आठ से 10 जनसभाएं कर रहे हैं। लेकिन इन जन-सभाओं में कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं हो रहा। जिसको लेकर चुनाव आयोग सख्त हो गया है। चुनाव आयोग ने मीडिया का हवाला देते हुए कहा है कि कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं हो रहा। ऐसे में संक्रमण के फैलने का खतरा ज्यादा बढ़ गया है। भाजपा और कांग्रेस दोनों दलों के नेता और प्रत्याशी रैलियों में बिना मास्क के ही मंच पर बैठ रहे हैं। सोशल डिस्टेंसिंग की भी धज्जियां उड़ा रहे हैं। इसके अलावा रैलियों में उमड़ रही भीड़ भी कोरोना संक्रमण को बुलावा दे रही है। ऐसे में मामला संज्ञान में आने पर चुनाव आयोग ने इस पर कड़ा रुख अपनाया है।

ऐसे कैसे कोरोना को हरा पाएंगे हम।
ऐसे कैसे कोरोना को हरा पाएंगे हम।

मंडी संसदीय क्षेत्र के निवार्चन अधिकारी ने जारी किए आदेश

मंडी संसदीय क्षेत्र के निर्वाचन अधिकारी और उपायुक्त मंडी अरिंदम चौधरी ने बकायदा भाजपा कांग्रेस व निर्दलीय उम्मीदवारों को इसे लेकर आगाह कर दिया है। उन्होंने सभी दलों उम्मीदवारों को कोविड प्रोटोकॉल के अनुपालना सुनिश्चित करने को कहा है। ऐसे में अब देखना यह है कि चुनाव आयोग की ओर से जारी इस चेतावनी के बाद क्या पार्टियां और प्रत्याशी कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हैं या नहीं।

कोरोना कॉल में हो रहे हिमाचल में उप-चुनाव
गौरतलब है कि प्रदेश में उप-चुनाव कोरोना काल में हो रहे हैं। रोजाना संक्रमण के नए मामले सामने आ रहे हैं और लोगों की मौत भी हो रही है। तीसरी लहर की संभावना भी स्वास्थ्य विशेषज्ञ बता चुके हैं। अभी हिमाचल दूसरी लहर के जख्म भी नहीं भूला है। इसी डर को देखते हुए चुनाव आयोग में प्रत्याशियों और पार्टियों को कोविड प्रोटोकॉल की पालना करने के निर्देश जारी किए हैं। चुनाव आयोग ने साफ कहा है कि जन-सभाओं वह घर-घर प्रचार करने के लिए कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। सार्वजनिक जगहों पर जाने पर मास्क लगाना होगा। लेकिन उप-चुनाव में प्रचार रफ्तार पकड़ने के साथ ही नेता सभी प्रोटोकॉल भूल गए हैं।

एक चुनावी जनसभा में उमड़ी भीड़, और बिना मास्क के बैठे लोग।
एक चुनावी जनसभा में उमड़ी भीड़, और बिना मास्क के बैठे लोग।

पुलिस भी आम लोगों को ही पकड़ रही
अब इसमें सवाल यह उठता है कि पुलिस प्रशासन क्या कर रहा है, पुलिस भी केवल आम लोगों को ही पकड़ रही है जो बिना मास्क के घूमते हैं, लेकिन चुनावी रैलियों के दौरान नेताओं कार्यकर्ताओं को टोकने की हिम्मत पुलिस को नहीं पड़ रही। ऐसे में लोग भी यही कह रहे हैं कि नेताओं, प्रत्याशियों को कोरोना नहीं होता। केवल आम जनता को ही होता है और पुलिस भी अपना रुतबा केवल आम जनता पर ही झाड़ती है।

खबरें और भी हैं...