बालूगंज में राेड अनसेफ:छाेटे वाहन ही जा रहे, हैवी ट्रैफिक अब वाया चक्कर; रिटेनिंग वाॅल लगने के बाद ही हो पाएगी सड़क पर सामान्य आवाजाही

शिमला6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बालूगंज जाने वाली सड़क बड़े वाहनों के लिए बंद कर दी गई है तो लोअर हिमाचल से आने वाली बड़ी गाड़ियां तवी मोड़ पर रोककर वाया चक्कर भेजी जा रही हंै। - Dainik Bhaskar
बालूगंज जाने वाली सड़क बड़े वाहनों के लिए बंद कर दी गई है तो लोअर हिमाचल से आने वाली बड़ी गाड़ियां तवी मोड़ पर रोककर वाया चक्कर भेजी जा रही हंै।
  • बरसात से पहले काम पूरा न हुआ ताे पूरी सड़क ही ढह जाएगी

बालूगंज के पास एनएच पर रिटेनिंग वॉल नहीं लगने के कारण और बारिश की वजह से नेशनल हाईवे ढहने के चलते अब बसाें के रूट काे डाइवर्ट कर दिया गया है। लोअर हिमाचल से आने वाले बड़े वाहनों को तवी मोड़ से वाया चक्कर हाेकर भेजा जा रहा है। लॉन्ग रूट की बसें भी यहीं से अाएंगी। बालूगंज जंक्शन में वाहनाें के लिए टेंपरेरी राेड शुरू किया गया है। अभी सिर्फ रोड से छोटे वाहनों को ही जाने की अनुमति है।

डंगाि गिरने के बाद सड़क के किनारे ड्रम में मिट्टी भरकर एक टेंपरेरी डंगा तैयार किया गया। इसमें दाे से तीन तह ड्रम की लगाई गई हैं और उसके उपर से मिट्टी डाली गई। यहां पर छाेटाे वाहनाें के लिए ट्रैफिक शुरू की गई है। अब अगले सप्ताह से यहां पर रिटेनिंग वाॅल काे लगाने का काम शुरू कर दिया जाएगा।

रिटेनिंग वाॅल लगने के बाद यहां पर सड़क काफी चाैड़ी हाे जाएगी। स्थानीय पार्षद शैली शर्मा पहले ही कह चुकी हैं कि एफसीए की मंजूरी मिलने में देरी होने से यह काम लटका रहा। हालांकि, इस काम को नगर निगम नहीं पीडब्ल्यूडी करवा रहा है।

पेड़ काटने की मंजूरी नहीं ली

स्मार्ट सिटी के तहत किए जा रहे इस कार्य को करने के लिए नगर निगम और अन्य विभागों की लापरवाही इस कदर रही कि इसके लिए पहले एफसीए की मंजूरी नहीं ली गई। जिस जगह यह काम शुरू किया गया वहां पर पांच पेड़ थे, लेकिन इनको काटने के फॉरेस्ट क्लीयरेंस नहीं ली गई। बिना क्लीयेरेंस के ही यहां काम शुरू कर दिया गया। इसके चलते यह काम काफी अरसे से बंद पड़ा है जो कि अब आम लोगों पर भारी पड़ रहा है।

बनाया जाना है कॉम्प्लेक्स

बालूगंज जंक्शन चौड़ा करने के लिए पहले यहां साथ में एक कॉम्प्लेक्स बनाया जाना है। इसका भी टेंडर कर लिया गया है। यहां तीन मंजिला कॉम्प्लेक्स बनाया जाना है, जिसमें चौक पर बनी दुकानों को शिफ्ट किया जाएगा। मगर अब जबकि कॉम्प्लेक्स के बेस का काम शुरू करने की बारी आई तो अब फिर से इसका डिजाइन तैयार किया जा रहा है। बताया जा रहा िक पहले जो बेस डिजाइन में दर्शाया गया था, उसके बेस का स्ट्राटा कमजोर निकला है। इस तरह अब इस कॉम्प्लेक्स को रिडिजाइन किया जा रहा है।

5 माह से बंद था काम इसलिए टूटी सड़क

यहां पर रिटेनिंग वाॅल लगाने के लिए बीते वर्ष अगस्त में दुकानें ताेड़ दी गई थी और यहां पर खुदाई भी कर दी गई। मगर उसके बाद एफसीए के फेर में पांच माह तक काम लटका रहा। इसी बीच जब बीते चार दिनाें में बारिश हुई ताे यहां पर पानी भरने से कच्ची मिट्टी ढह गई और सड़क काे बंद करना पड़ा। वहीं अगर जल्द ही यहां पर दाेबारा से पक्की रिटेनिंग वाॅल नहीं लगाई गई ताे टेंपरेरी डंगा भी खतरा बन सकता है। दाेबारा से यहां पर बरसात में सड़क बंद हाे सकती है।

बालूगंज समरहिल सड़क पर लगता है जाम

बालूगंज समरहिल सड़क पर अकसर ट्रैफिक जाम लग रहा है। लोग रोजाना इस ट्रैफिक जाम से परेशान हो रहे हैं। लोगों का कहना है कि इस तंग मार्ग की न तो निगम प्रशासन सुध ले रहा है न ही जिला प्रशासन। इस सड़क को चौड़ा करने के लिए कोई गंभीर कदम उठा रहा है। कई बार जिला व पुलिस प्रशासन को सुबह शाम बालूगंज की तर्ज पर वाया सांगटी लोअर समरहिल, बालूगंज वन-वे ट्रैफिक चलाने का सुझाव दिया जा चुका है, लेकिन कदम नहीं उठाए गए।

खबरें और भी हैं...