ठाकुर-चंदेल ने पुलिस पर उठाए सवाल:बोले- चोरों से मिले हुए हैं खाकी वाले; खनन-नशा माफिया को संरक्षण देने का आरोप

बिलासपुर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बिलासपुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते रामलाल ठाकुर और सुरेश चंदेल। - Dainik Bhaskar
बिलासपुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते रामलाल ठाकुर और सुरेश चंदेल।

बिलासपुर जिला से कांग्रेस के दो बड़े नेताओं ने कानून व्यवस्था को लेकर पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए सरकार पर तीखा हमला बोला है। नयनादेवी के विधायक रामलाल ठाकुर तथा पूर्व सांसद सुरेश चंदेल ने कहा कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बजाय शिकायत करने वालों को परेशान किया जा रहा है। इससे ऐसा लग रहा है कि पुलिस चोरों से मिली हुई है।

शनिवार को सर्किट हाउस में प्रेस कॉन्फ्रेंस में रामलाल ठाकुर व सुरेश चंदेल ने कहा कि बिलासपुर में खनन माफिया पूरी तरह से हावी है। खड्डों से बड़े पैमाने पर रेत, बजरी व पत्थर निकाले जा रहे हैं। इससे खड्डे 10 से 12 फीट गहरे हो गए हैं। इसका असर पेयजल व सिंचाई योजनाओं पर भी पड़ रहा है। खनन और अवैध डंपिंग को लेकर पुलिस को कई सबूत दिए गए।

डीजीपी व एसपी को भी शिकायत भेजी गई। कार्रवाई तो दूर, आज तक एफआईआर तक दर्ज नहीं हुई। शहर के लखनपुर में एक मकान से गहने व अन्य सामान चोरी हुआ। मकान मालिक ने सीसीटीवी कैमरा लगाकर पड़ोसियों की मदद से एक महिला को चोरी करते पकड़ा। करीब 14 लाख की चोरी को लेकर पुलिस ने एफआईआर तो दर्ज की, लेकिन जानबूझकर केस कमजोर बनाया।

हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत लेकर आरोपी महिला अब एफआईआर रद्द करवाकर मकान मालिक के खिलाफ झूठा केस दर्ज करवाने के प्रयास में है। बिलासपुर में खैर माफिया अंधाधुंध पेड़ काट रहा है। इसमें राजनीति के प्रभावशाली लोग शामिल हैं। जंगल काटने के बाद यह लोग सबसे पहले खुद ही मीडिया में जाकर अवैध कटान का राग अलापने लगते हैं।

इन मामलों में भी कमजोर केस बनाकर पुलिस उन्हें बचा लेती है। पंजाब से सटे कोट थाना क्षेत्र में लोगों से शराब की भट्ठियां लगवाई जा रही हैं। राजनीतिक संरक्षण की वजह से पुलिस केस दर्ज नहीं करती। पुलिस संरक्षण की वजह से ही चिट्टा समेत अन्य नशीले पदार्थों का कारोबार भी खूब फल-फूल रहा है। इस मौके पर संदीप सांख्यान व आशीष ठाकुर भी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...