• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Rocks Fell Near Manali In Kullu, Bridge Over Sutlej In Kinnaur Damaged Due To Falling Of Stones, National Highway 5 Is Also Being Closed Repeatedly

हिमाचल में मानसून बना आफत, एक की गई जान:कुल्लू में मनाली के पास गिरी चट्‌टान; किन्नौर में सतलुज पर बना पुल क्षतिग्रस्त, रिकांगपिओ में लैंडस्लाइड, एक की मौत, 2 घायल

शिमला/कुल्लू/किन्नौर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मनाली में नेहरू कुंड के पास रोड पर गिरी चट्‌टान। - Dainik Bhaskar
मनाली में नेहरू कुंड के पास रोड पर गिरी चट्‌टान।

हिमाचल प्रदेश में लगातार बारिश का कहर जारी है। सोमवार सुबह करीब 10 बजे लैंड स्लाइड होने से एक नेपाली मजदूर की मौत हो गई, जबकि दो घायल हुए हैं। पुलिस के मुताबिक, ग्राम पंचायत असरंग के तोकतो नामक स्थान पर लैंडस्लाइड हुआ, जिसमें धन बहादुर पुत्र टेक बहादुर निवासी झाझर कोट नगर पालिका-7 तहसील जगतीपुर, जिला झाझर कोट नेपाल की मौत हो गई।

वहीं हादसे में घायल मीणा (27) पत्नी माइककल विले भोरिंग्या पीओ पुखरा, तहसील जगतीपुर जिला झाझर कोट नेपाल व रिट्टू (31) बस्तीन पत्नी स्वर्गीय जय बहादुर बसनीत जिला रुकुम नेपाल को स्थानीय लोगों की मदद से उपचार के लिए क्षेत्रीय चिकित्सालय रिकांगपिओ लाया गया।

लैंडस्लाइड में मारे गए मजदूर को लेकर जाते हुए लोग।
लैंडस्लाइड में मारे गए मजदूर को लेकर जाते हुए लोग।

लैंडस्लाइड होने से जनजीवन प्रभावित

रविवार को भी कई जगहों पर लैंडस्लाइड होने से नेशनल हाईवे बाधित हो गए। सोमवार को भी कुल्लू, किन्नौर, शिमला समेत अन्य जिलों में लैंडस्लाइड हुआ है। जनजीवन प्रभावित हुआ है। मौसम विभाग की ओर से भी येलो अलर्ट जारी किया गया है। वहीं प्रदेश में मानसून भी पूरी तरह से सक्रिय है।

मनाली-लेह मार्ग पर पर्यटन नगरी मनाली के नेहरू कुंड के पास सड़क पर बड़ी-बड़ी चट्‌टानें गिर गईं, जिससे यह मार्ग यातायात के लिए बंद हो गया। जबकि केलांग से लेह के बीच हो रही बर्फबारी के कारण यातायात को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। क्योंकि बारालाचा तंगलांगला दर्रा समेत क्षेत्र के तमाम ऊंचे दर्रों पर बर्फबारी हुई है। जिस कारण यह मार्ग यातायात के लिए सुरक्षित नहीं है।

निगुलसेरी के पास हुआ लैंडस्लाइड।
निगुलसेरी के पास हुआ लैंडस्लाइड।

फिलहाल मौसम साफ न होने तक बंद रहेगा यातायात
पुलिस अधीक्षक लाहौल स्पीति मानव वर्मा ने बताया कि केलांग से लेह के बीच यातायात बर्फबारी के चलते रोक दिया गया है। मौसम साफ होने के बाद जैसे ही सड़क यातायात के लिए सुरक्षित होगी, वाहनों की आवाजाही शुरू की जाएगी। उधर एचआरटीसी के क्षेत्रीय प्रबंधक मंगल चंद मने पाल ने बताया कि मनाली के नेहरू कुंड के पास पहाड़ी से बड़ी-बड़ी चट्‌टानें सड़क पर आ गईं।

इस कारण मनाली और केलांग के बीच का संपर्क बंद हो गया और नेहरू कुंड के पास दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। आपदा प्रबंधन कुल्लू व सीमा सड़क संगठन के अधिकारियों को सूचित कर दिया गया है। बसें देरी से पहुंच सकती हैं। जो बसें उपलब्ध हैं, उन्हें ट्रांसशिपमेंट करवा दिया गया है, बाकी बसों को रोड खुलने के बाद ही भेजा जाएगा, यात्रियों को भी परेशानी होगी।

मनाली, लाहौल-स्पीति की चोटियों पर गिरी बर्फ।
मनाली, लाहौल-स्पीति की चोटियों पर गिरी बर्फ।

किन्नौर में पत्थरों के गिरने से उरनी ढांक पर बना पुल क्षतिग्रस्त

किन्नौर जिला में देर रात से बारिश जारी है, जिसके चलते जिले को जोड़ने वाला नेशनल हाईवे पर जगह-जगह अवरुद्ध हो गया है। तेज बारिश के चलते लोगों का घर से बाहर निकलना जोखिम भरा है। सोमवार सुबह उरनी ढांक के पास सतलुज नदी के ऊपर बने पुल पर चट्टान गिरने से पुल को भारी क्षति पहुंची, जिस कारण पुल पर से वाहनों की आवाजाही बंद कर दी गई। प्रशासन ने वाहनों व सेब से लदे वाहनों को वाया चोलिंग-उरनी संपर्क मार्ग डायवर्ट किया है। लेकिन मार्ग तंग होने से इस पर वाहनों का जाम लग रहा।

इसी तरह निगुलसरी के पास भी एक बार दोबारा लैंडस्लाइड हुआ, जिस कारण नेशनल हाईवे-5 पूरी तरह बंद हो गया, हालांकि इसे खोल दिया गया था, लेकिन रिकांगपिओ से पूह व स्पीति को जोड़ने वाली एनएच-5 पर पुरवानी झूला, नेसंग पुल के पास पत्थरों का गिरना जारी है। यहां पर भारी चट्टान खिसकने का खतरा बना हुआ है। पागल नाला में भी बाढ़ आने से एनएच-5 अभी बंद है। हाईवे अथॉरिटी ने मलबा हटाने के लिए जेसीबी मशीन लगाई हुई है।

किन्नौर में चट्‌टान गिरने से क्षतिग्रस्त हुआ पुल।
किन्नौर में चट्‌टान गिरने से क्षतिग्रस्त हुआ पुल।
खबरें और भी हैं...