पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना काल:उद्योगों में बाहर से आने वाली लेबर को सात दिन क्वारंटाइन अनिवार्य

शिमला10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो।
  • सीएम ने ई-कोविड रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को सख्त किया
  • रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही काम कर सकेगी लेबर, ठेकेदाराें और उद्यमियाें की होगी जिम्मेवारी

प्रदेश में काेराेना के बढ़ते मामलाें काे देखते हुए राज्य सरकार ने प्रदेश आने के लिए ई-काेविड रजिस्ट्रेशन के नियमाें में संशाेधन कर उसे सख्त बना दिया है। इसके तहत दूसरे राज्याें से राेजगार के सिलसिले में प्रदेश में आने वाले औद्योगिक मज़दूरों को कम से कम 7 दिन के लिए इंस्टीट्यूशनल या होम क्वारंटाइन अनिवार्य होगा। काेराेना की जांच रिपाेर्ट नेगेटिव आने के बाद ही मजदूर काम कर सकेगा। 

मजदूराें काे क्वारंटाइन में रखने की सारी जिम्मेदारी ठेकेदार या संबंधित उद्यमी की रहेगी। अभी कई जगह ठेकेदार लेबर को लाकर सीधे उन्हें काम पर रख रहे हैं। इससे बद्दी में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। इस संबंध में सरकार ने आदेश जारी कर दिए हैं। काेराेना के अधिक मामले सामने आने के बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय बैठक हुई। इसमें काेराेना के बढ़ते मामलाें पर चिंता जताई गई और ई-काेविड पंजीकरण की प्रक्रिया काे सख्त बनाने के आदेश जारी किए गए।

जानकारी वेरिफाई होने के बाद ही रजिस्ट्रेशन
लाेग झूठी और अधूरी जानकारी देकर हिमाचल में एंट्री ले रहे हैं। इससे काेराेना का खतरा और बढ़ गया है। इसे राेकने के लिए नियमों में परिवर्तन किए गए हैं। राज्य में आने वाले हर व्यक्ति की सूचना पहले वेरिफाई की जाएगी। ऑथराइज्ड अफसर के वेरिफाई करने के बाद ही रजिस्ट्रेशन होगा। यदि कोई भी व्यक्ति झूठी या गलत सूचना देते हुआ पाया जाता है ताे उसके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी।  अगर काेई व्यक्ति गैरकानूनी तरीके से आता हुआ पकड़ा जाता है या कोई क्वारेंटाइन सेंटर से भाग जाता है तो उसके खिलाफ कोविड-19 रेगुलेशन एवं डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत कार्रवाई होगी।

काेराेना के बढ़ते मामलाें काे देखते हुए ई-काेविड पंजीकरण के नियमाें काे संशाेधित किया गया है। काम के सिलिसिले से प्रदेश आने वाले औद्योगिक मज़दूरों का संस्थागत या होम क्वारंटीन जरुरी कर दिया है। मजदूराें काे 7 दिनाें तक हाेम या संस्थागत क्वारंटीन रहना पड़ेगा। काेराेना की जांच रिपाेर्ट नेगेटिव अाने के बाद ही मजदूर काम कर सकेगा। मजदूराें काे क्वारंटाइन में रखने की सारी जिम्मेदारी ठेकेदार या संबंधित उद्यमी की रहेगी। - आरडी धीमान, अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें