अस्पताल में कोरोना का कहर:आईजीएमसी में काेराेना से छह मरीजाें की माैत, 73 नए मरीज, वीरभद्र की हालत में सुधार

शिमला6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आईजीएमसी में काेराेना से मंगलवार काे छह मरीजाें की माैत हाे गई। इसमें बिलासपुर की 63 वर्षीय महिला काे 29 मई काे रेफर किया गया, जबकि 31 मई काे देररात 2:15 बजे महिला की माैत हाे गई। साेलन के 82 वर्षीय व्यक्ति काे एमएमयू साेलन से 31 मई काे रात काे रेफर किया गया। एक जून काे सुबह 5:15 माैत हाे गई।

काेटखाई शिमला के 44 वर्षीय व्यक्ति काे 31 मई काे आईजीएमसी में एडमिट किया गया। एक जून काे सुबह 5:20 बजे व्यक्ति की माैत हाे गई। रामपुर शिमला के 37 वर्षीय व्यक्ति की एक जून काे सुबह 10:37 बजे माैत हाे गई। चाैपाल शिमला के 45 वर्षीय व्यक्ति काे 23 मई काे आईजीएमसी रेफर किया गया।

एक जून काे 10 बजे व्यक्ति की माैत हाे गई। जबकि जाेगेंद्र नगर मंडी के 50 वर्षीय महिला काे 8 मई काे आईजीएमसी में एडमिट किया गया। एक जून काे सुबह 6:50 बजे महिला की माैत हाे गई। पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की हालत में अब काफी सुधार हुआ। उनकी सभी रिपोर्ट सामान्य आई है। हालांकि अभी कुछ दिन उनहें आईजीएमसी में ही ऑब्जर्वेशन में रखा जाएगा।

वहीं मंगलवार काे जिला में काेराेना के 73 नए मरीज आए हैं। इसमें राेहड़ू से 17, जुब्बल काेटखाई से 10, नेरवा से 8, रामपुर से 9, संजाैली से 4, मतियाना और कुमारसैन से 3-3, जबकि न्यू शिमला और छाेटा शिमला से दो-दो, शाेघी, हाॅलीओक, मिलिट्री अस्पताल, ननखड़ी और सिरमाैर से एक-एक मरीज आया है। इसके अलावा किसी भी मरीज की रिपाेर्ट पेंडिंग नहीं है।

दिव्यांगजनों के टीकाकरण के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त

डीसी शिमला आदित्य नेगी ने आदेश जारी करते हुए बताया कि आयुक्त नगर निगम, कार्यकारी अधिकारी नगर निगम और नगर पंचायतों के सचिव व संबंधित क्षेत्रों के खंड विकास अधिकारियों को अपने क्षेत्रों के दिव्यांगजनों के टीकाकरण के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया।

नोडल अधिकारी संबंधित क्षेत्रों के पार्षद, प्रधान, खंड चिकित्सा अधिकारी, वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी तथा गैर राजनैतिक संस्थाओं व स्वैच्छिक संस्थाओं के साथ समन्वय स्थापित कर दिव्यांगजनों के टीकाकरण में सहयोग देंगे।

बार काउंसिल के अध्यक्ष रमाकांत का भी निधन

बार काउंसिल के अध्यक्ष रमाकांत का मंगलवार काे आईजीएमसी में निधन हाे गया। काेराेना संक्रमित होने के बाद वह आईजीएमसी के कोविड आईसीयू में रहे। बाद में कोविड निगेटिव होने पर उन्हें जनरल आईसीयू में रखा गया था, जहां मंगलवार काे उनकी मृत्यु हो गई। कोविड की वजह से उनके फेफड़े इतने अधिक खराब हो गए थे कि उन्हें बचाया नहीं जा सका। वह बीते कई दिनाें से आईजीएमसी में एडमिट थे।

खबरें और भी हैं...