110 साल पहले हुआ था निर्माण:एसजेपीएल के कर्मचारियों ने साफ किया रिज का टैंक, काफी गंदा हाे गया था पानी

शिमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रिज पर पेयजल टैंक की बुधवार काे एसजेपीएल कर्मियों ने सफाई की। - Dainik Bhaskar
रिज पर पेयजल टैंक की बुधवार काे एसजेपीएल कर्मियों ने सफाई की।

रिज मैदान स्थित पेयजल टैंक की बुधवार काे एसजेपीएल के कर्मचारियों ने सफाई की। टैंक में पानी काफी गंदा हाे गया था। इसी के चलते रूटीन ताैर पर इसकी सफाई की गई। ब्रिटिश काल में बने इस वाटर स्टोरेज टैंक का निर्माण 110 वर्ष पहले हुआ था। टैंक में आर्क आकार के 10 चैंबर बनाए हैं, जिनमें पानी स्टोर किया जाता है। 10 मीटर ऊंचाई वाले इस टैंक के 10 चैंबर में 5 एमएलडी यानी 50 लाख लीटर के करीब पानी स्टोर किया जा सकता है और यह शहर का दूसरा सबसे बड़ा वाटर स्टोरेज टैंक है।

टैंक के पानी की निकासी रिवोली के पास होती है और रूल्दुभट्टा के नाले से होता हुआ पानी बाद में जाकर सतलुज में मिलता है। जबकि लोअर बाजार की ओर से पानी अश्वनी खड्ड में मिलने के बाद यमुना नदी में मिलता है। इस टैंक से मालरोड, लोअर बाजार, रामबाजार, बस स्टैंड, कृष्णानगर, कैथू, लक्कड़ बाजार, अनाडेल जैसे कोर एरिया में इसी टैंक से पानी की सप्लाई होती है।

मेयर और डिप्टी मेयर भी रहे माैजूद : रिज पर टैंक की सफाई के दाैरान मेयर सत्या काैंडल और डिप्टी मेयर शेलेंद्र चाैहान भी माैजूद रहे। मेयर सत्या कौंडल का कहना है कि टैंक के जिन चार चैंबर का काम नहीं हो सका है, उनकी मरम्मत करवाने की योजना है। इसके लिए 40 लाख रुपए का बजट शिमला जल प्रबंधन के पास है। इससे जिन चैंबर का काम पहले नहीं हो सका है उनकी मरम्मत का कार्य भी करवाने के निर्देश दिए।

कौंडल ने कहा कि टैंक की सफाई के काम का निरीक्षण किया है। इस दौरान अधिकारियों को निर्देश दिए कि बचे हुए चैंबर का भी बेहतर काम किया जाए। काम के लिए कंपनी ने आमंत्रित किए टेंडर हैं। बुधवार सुबह ही शिमला जल प्रबंधन निगम की टीम ने टैंक को साफ करने का काम शुरू कर दिया था। देर शाम तक चैंबर को साफ करने का काम पूरा कर लिया था।

खबरें और भी हैं...