राकेश टिकैत से उलझने वाले आढ़ती ने मांगी माफी:बोला- वह मेरे दादा जैसे, हिमाचल आने पर स्वागत करुंगा; सोलन में सब्जीमंडी के बाहर हुई थी दोनों के बीच बहसबाजी

सोलन/शिमला5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राकेश टिकैत से माफी मांगता सेब व्यापारी विक्की चौहान। - Dainik Bhaskar
राकेश टिकैत से माफी मांगता सेब व्यापारी विक्की चौहान।

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिला में शनिवार 28 अगस्त को किसान नेता राकेश टिकैत के साथ उलझने वाला आढ़ती विक्की चौहान अब पलट गया है। सोशल मीडिया पर एक पोस्ट जारी करके उसने सार्वजनिक तौर पर राकेश टिकैत से माफी मांगी है। विक्की चौहान का कहना है कि राकेश टिकैत उनके दादा जैसे है। उस दिन जो हुआ उसके लिए वह माफी मांगता है। हिमाचल आने पर राकेश टिकैत का वह खुद जोरदार स्वागत करेगा, क्योंकि वह किसानों के हित की लड़ाई लड़ रहे हैं और वह व्यापारी बाद में हैं, पहले किसान हैं।

व्यापारी विक्की चौहान ने वीडियो पोस्ट करके कहा कि 28 अगस्त को जो गलतफहमी हो गई थी, जिसको सोशल मीडिया ने बहुत बड़ा मुद्दा बना दिया था। वैसा कुछ नहीं था। उनका न किसी पार्टी से कोई लेना देना है न ही वह किसी पार्टी का कार्यकर्ता है। परसों राकेश टिकैत से हुई बातचीत का कारण सब्जी मंडी का एक मेन गेट है, जहां पर हमारे किसान नेता राकेश टिकैत आए थे। उन्हें मालूम नहीं था कि मंडी में राकेश टिकैत आ रहे हैं। न ही किसी ने उन्हें बताया कि उन्हें मंडी में आना है और उनका यहां पर कोई प्रोग्राम है।

अगर उन्हें यह पता होता कि राकेश टिकैत यहां पर आ रहे हैं तो वह भी जाते। क्योंकि वह खुद किसान हैं और किसानों के हित के लिए लड़ते हैं। बाप और बेटे की भी घर पर लड़ाई होती है तो उस चीज को लेकर इतना बड़ा मुद्दा नहीं बनाया जाता और न ही बनाना चाहिए। वह हमारे पूजनीय हैं और दादा परदादा के समान हैं। अगर वह कभी भी हिमाचल प्रदेश में आते हैं तो मैं सबके सामने यह बोल रहा हूं कि मैं उनका भव्य स्वागत खुद करुंगा।

व्यापार में परेशानी के चलते मैंने खोया आपा
सोलन मंडी के व्यापारी विक्की चौहान ने एक और दूसरी वीडियो में कहा है कि कुछ समय से व्यापार मंदा चल रहा था। ऐसे में वह काफी परेशान थे। इसी वजह से मैंने अपना आपा खो दिया और उन्हें अनाप-शनाप बोल दिया। अगर राकेश टिकैत को ठेस पहुंची है तो वह उन्हें हिमाचल आने का न्योता देते हैं।

दिल्ली में जाकर मिलूंगा राकेश टिकैत से
आढ़ती विक्की चौहान का कहना है कि वह दिल्ली जाकर राकेश टिकैत से मिलेंगे। अभी सेब सीजन के चलते हुए थोड़ा उलझे हुए हैं। लेकिन वे अपने ट्रांसपोर्ट साथियों के साथ जाकर समय निकाल कर दिल्ली में उनसे मिलेंगे और उनका समर्थन करेंगे।

आखिर क्यों उपजा इतना बड़ा विवाद
शनिवार को किसान नेता राकेश टिकैत हिमाचल के एक दिवसीय दौरे पर थे। सोलन सब्जी मंडी में वह अपने समर्थकों के साथ नारेबाजी कर रहे थे। इसी दौरान सोलन सब्जी मंडी के मुख्य गेट के पास से जब वह निकलने लगे तो एक व्यापारी विक्की चौहान आता है और कहता है कि गाड़ी आगे करो, नारेबाजी यहां नहीं चलती है, दिल्ली में ही चलती है। इस पर राकेश टिकैत ने कहा कि यह क्या तेरे बाप की जगह है। वहीं गुस्से में आढ़ती विक्की चौहान ने भी कह दिया कि तेरे बाप की भी जगह नहीं है और इस वजह से यहां पर काफी बवाल हो गया। इसके बाद विक्की चौहान ने शहरी चौकी सोलन में इसकी शिकायत दी। पुलिस ने भी उनकी शिकायत पर मामले की छानबीन शुरू कर दी थी।

विक्की चौहान बोले- जहां आना है, वहां पर आ जाऊंगा
वहीं रविवार को आढ़ती विक्की चौहान ने एक पोर्टल पर इंटरव्यू देते हुए कहा कि उन्हें जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं। लेकिन जो लोग उन्हें धमकियां दे रहे हैं, वह उन्हें बताएं कि उन्हें कहां पर आकर मिलना है और कब आना है, वह वहीं पर आ जाएंगे। उनका यह इंटरव्यू भी सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था। इसके बाद सोशल मीडिया पर उनकी नेताओं के साथ भी फोटो वायरल होना शुरू हो गई थी, जिस पर यह कहा जा रहा था कि यह भाजपा के कार्यकर्ता हैं और उनके कहने पर उन्होंने यह सब किया है।

खबरें और भी हैं...