चलने से पहले आई खराबी:अग्निशमन की 17 गाड़ियों को हरी झंडी दिखाने के फाैरन बाद ही ओकओवर के पास नई गाड़ी हुई खराब, क्लच प्लेट टूटी

शिमला9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हिमाचल के 17 अग्निशमन केंद्रों, उपकेंद्रों और चौकियों को मंगलवार को नए अग्निशमन वाहन मिल गए। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शिमला से इन वाहनों को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। इसी बीच जयराम ठाकुर द्वारा हरी झंडी मिलने के बाद रवाना हुए इन वाहनों में एक वाहन कुछ ही दूरी पर खराब हाे गया। यह वाहन हरी झंडी दिखाए जाने के बाद मात्र 150 मीटर की दूरी पर सीएम के सरकारी आवास के पास ही हांफ गया।

वाहन के इस तरह से खराब होने से प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली पर भी सवालिया निशान लग गया है। बताया जा रहा है कि गाड़ी की क्लच प्लेट खराब होने से यह वाहन बीच सड़क में रूक गया। जिसके बाद मैकेनिक को बुलाकर इस वाहन की रिपेयर की गई। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने 17 वाहनों को हरी झंडी देकर प्रदेश के विभिन्न भागों में स्थिति अग्निशमन केंद्रों और उपअग्निशमन केंद्रों के लिए अग्निशमन सेवाएं विभाग के 17 अग्निशमन वाहनों को रवाना किया।

जय राम ठाकुर ने कहा कि यह वाहन किन्नौर, माल रोड शिमला, पांवटा, बिलासपुर, कुल्लू, बद्दी, परवाणू, नालागढ़, ऊना और चंबा के अग्निशमन केंद्रों, झंडुता और गोहर के उप अग्निशमन केंद्र व जुब्बल, पतलीकूहल, संसारपुर टैरेस, पधर और जोगिन्द्रनगर की दमकल चौकी को प्रदान किए जाएंगे।

उन्हाेंने कहा कि प्रदेश सरकार ने पिछले तीन सालों के दौरान अग्निशमन वाहनों एवं अन्य उपकरणों की खरीद के लिए 21.26 करोड़ व अग्निशमन विभाग के विभिन्न भवनों के निर्माण के लिए 17.46 करोड़ व्यय किए हैं। उन्होंने कहा कि इससे प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में बेहतर अग्निशमन सेवाएं उपलब्ध होंगी, लेकिन इसी बीच मात्र 150 मीटर की दूरी पर वाहन के खराब होने से प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली एक बार फिर संदेह के घेरे में आ गई है।

खबरें और भी हैं...