• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • State Information Commissioner's Tenure Reduced By 2 Years, Now The Appointment Will Be For Three Years; Government Took The Decision

राज्य सूचना आयुक्त के कार्यकाल में 2 साल की कटौती:अब 3 साल के लिए ही होगी तैनाती; नई नियुक्तियों के लिए कई अफसर लाइन में

शिमला7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

हिमाचल प्रदेश में राज्य सूचना आयुक्त का कार्यकाल अब 5 की जगह सिर्फ 3 साल का होगा। राज्य सरकार ने राज्य सूचना आयोग के कार्यकाल को 2 साल कम कर दिया है। साथ ही रिटायरमेंट की आयु सीमा भी 2 साल घटाकर 65 से 63 वर्ष कर दी है।

प्रदेश में मुख्य सूचना आयुक्त नरेंद्र चौहान का कार्यकाल 30 जून को पूरा होने जा रहा है। वरिष्ठ IAS अधिकारी नरेंद्र चौहान की इस पद पर तैनाती पिछली कांग्रेस सरकार में हुई थी। जानकारी के अनुसार इस पद के लिए सेवारत और सेवानिवृत्त अधिकारियों के साथ-साथ कुछ वकीलों और पत्रकारों ने भी आवेदन किया है।

सरकार को अब तक कुल 48 आवेदन मिले हैं। मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष की संस्तुति के बाद मुख्य सूचना आयुक्त की तैनाती होगी। राज्य सूचना आयोग में एक मेंबर का पद भी लंबे समय से खाली है। अध्यक्ष के साथ ही इस पद को भी भरा जाएगा।

मुख्य सूचना आयुक्त के पद के लिए अतिरिक्त मुख्य सचिव RD धीमान, मुख्यमंत्री के सलाहकार और निजी सचिव RN बत्ता और पूर्व DGP सीता राम मरड़ी ने भी आवेदन कर रखा है। कई पूर्व अधिकारी इस पद को हासिल करने की चाह में हैं। इस पद के लिए लॉबिंग भी तेज हो गई है।

इधर, जल शक्ति विभाग के सचिव पद पर कार्यरत IAS अधिकारी विकास लाबरू भी इसी माह सेवानिवृत्त हो रहे हैं। विकास लाबरू लंबे समय से जल शक्ति विभाग में सचिव पद पर तैनात हैं। उनका मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से मिलने का कार्यक्रम है। सेवानिवृत्ति से पहले मुख्यमंत्री से उनके निवास स्थान पर मिलना कई तरह की अटकलें शुरू हो गई हैं।