पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पश्चिमी विक्षोभ का असर:प्रदेश में फिर बदला मौसम का मिजाज, गरज के साथ बरसे बादल, माैसम हुअा ठंडा

शिमला8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आनी में हुई ओलावृष्टि से सेब की फसल को पहुंचा नुकसान - Dainik Bhaskar
आनी में हुई ओलावृष्टि से सेब की फसल को पहुंचा नुकसान
  • 10 जून तक साफ रहेगा मौसम, 11 काे प्री-मानूसन-25 तक मॉनसून के आसार

राजधानी शिमला सहित प्रदेश के ऊपरी क्षेत्राें में पश्चिमी विक्षोभ का असर देखने काे मिला। यहां गड़गड़ाहट के साथ बारिश हुई। बारिश के कारण मौसम भी काफी ठंडा हाे गया। अप्पर शिमला के कुछ स्थानों पर ओले गिरने से सेब की फसल काे भी नुकसान पहुंचा है। माैसम विभाग ने अगले चार दिन सभी जगह माैसम के साफ रहने की बात कही है।

11 जून से प्री-मानसून और 25 जून काे माॅनसून प्रदेश में बरसने की संभावना बताई है। देहरा गोपीपुर में सबसे ज्यादा 34, घुमारवीं में 11, मैहरे व डल्हौजी में 6-6, और शिमला में 3 मिमी बारिश दर्ज की गई है। मैदानी इलाकों में तेज धूप खिलने से अधिकतम तापमान में उछाल दर्ज किया गया है। ऊना का तापमान 37.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

बिलासपुर से 7-8 किलोमीटर दूर नौणी के पास चंडीगढ़-नेशनल हाईवे पर पहाड़ी से मलबा पहुंच गया। इससे एनएच के दोनों ओर वाहनों की कतारें लगने लगी। पीडब्ल्यूडी के एक्सईएन राजेंद्र सिंह जुगलानी ने जेसीबी मशीन भेजकर एनएच बहाल करवाया।

मई में बारिश और ओलावृष्टि से सेब और अन्य फलाें काे 25.91 कराेड़ रुपए का हुआ नुकसान

इस साल प्रदेश में किसानों बागवानाें पर माैसम कहर बन कर टूट रहा है। अप्रैल में बगीचाें में फ्लाॅवरिंग के दाैरान बेमाैसमी बारिश, बर्फबारी और ओलावृष्टि से सेब सहित दूसरे अन्य फलाें काे 275 कराेड़ से अधिक का नुकसान झेलना पड़ा। मई में सेब सहित अन्य फलाें काे 25.91 कराेड़ का नुकसान हुआ है। इसकी रिपाेर्ट बागवानी विभाग काे मिल गई है।

मई में हुई बारिश से 8606 हैक्टेयर एरिया प्रभावित हुआ है। इसमें 7250 हैक्टेयर क्षेत्र 33 प्रतिशत से कम और 1356 हैक्टेयर एरिया 33 प्रतिशत से ज्यादा प्रभावित हुआ है। इससे करीब 15783 बागवानाें काे नुकसान झेलना पड़ा है। इसमें 2831 छाेटे किसान है। जिनकी फसल तबाह हुई है। अकेले शिमला जिला में बागवान और बागवानी काे सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचा है।

यहां पर अकेले 22 कराेड़ 44 लाख रुपए की फसल तबाह हुई है। करीब 4353 हैक्टेयर क्षेत्र पर माैसम की मार पड़ी है। बागवानी विभाग के निदेशक जेपी शर्मा ने बताया कि ओलावृष्टि से बागवानी काे पहुंचे नुकसान की रिपाेर्ट सरकार काे साैंप दी है।

खबरें और भी हैं...