• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • The Weather Will Remain Bad In The State For The Next Five Days, 2 Deaths Due To Rain, 47 Roads In The State Are Still Closed

11 को भारी बारिश का येलाे अलर्ट:अगले पांच दिन भी प्रदेश में खराब रहेगा मौसम का मिजाज, बारिश से 2 की मौत, अब भी राज्य की 47 सड़कें बंद

शिमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिमला के रिज मैदान में घूमते सैलानी। - Dainik Bhaskar
शिमला के रिज मैदान में घूमते सैलानी।

प्रदेश में माॅनसून की सक्रियता थाेडी धीमी पड़ी है। इसके चलते राजधानी शिमला सहित राज्य के अधिकांश इलाकों में दोपहर के समय बाद हल्की बारिश हुई। मौसम विभाग ने 13 अगस्त तक पूरे प्रदेश में मौसम खराब बना रहने का पूर्वानुमान जताया है, जबकि 11 अगस्त को मैदानी और मध्य पर्वतीय भागों में भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के निदेशक सुरेंद्र पाल ने बताया कि मानसून की सक्रियता से कई जगहों पर रूक-रूक कर बारिश हो रही है। अगले पांच दिन भी मौसम के मिजाज खराब रहेंगे।

लाहौल-स्पीति और किन्नौर को छोड़कर शेष सभी 10 जिलों में 11 अगस्त को भारी बारिश होने की आशंका जताई गई है। उन्होंने स्थानीय लाेगाें और सैलानियों को नदी-नालों से दूर रहने की हिदायत दी है। इस बीच बीते 24 घंटों के दौरान नैना देवी में सबसे ज्यादा 71 मिमी बारिश दर्ज की गई।

कंडाघाट में 59, कसौली में 35, धर्मपुर में 25, बलद्वारा में 24, पांवटा साहिब में 23, भराड़ी में 22, सरकाघाट में 20, गोहर, मंडी व बैजनाथ में 14-14, नारकंडा में 10, निचार में नौ, सुंदरनगर में सात, शिमला, झंडुता, कोटखाई, सराहन व काहू में पांच-पांच मिमी बारिश दर्ज की गई है।

चंबा में फिसलकर गिरने से व्यक्ति की मौत
प्रदेश में बारिश की वजह से शनिवार को दो लोगों की जान गई। सोलन में सड़क दुर्घटना और चंबा में फिसलकर गिरने से एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। इससे प्रदेश में माॅनसून के दाैरान मरने वालाें का आंकड़ा बढ़ कर 230 पहुंच गया है। भूस्खलन के कारण राज्य में 47 सड़कें बंद हैं। मंडी में 16, हमीरपुर में 12, कांगड़ा व कुल्लू में आठ-आठ, शिमला, सोलन व ऊना में एक-एक सड़क बंद है।

इसके अलावा सात पेयजल परियोजनाएं और चार ट्रांसफार्मर बंद हैं। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की रिपोर्ट के अनुसार बारिश से चार मकानों और तीन गौशालाओं को नुकसान पहुंचा है। इस दौरान तीन मवेशियों की भी जान गई। मानसून सीजन में चल व अचल संपति को 748 करोड़ रूपये का नुकसान पहुंचा है।

खबरें और भी हैं...