• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • This Time Not 80 Feet, Tomorrow Only 30 Feet Of Ravana Will Be Burnt In Jakhu, Ravana Will Also Burn In Summerhill And Nabha Under Corona Protocol

कोरोना इफेक्ट:इस बार 80 फीट नहीं कल जाखू में किया जाएगा सिर्फ 30 फीट के रावण का दहन, कोरोना प्रोटोकॉल के तहत समरहिल और नाभा में भी जलेगा रावण

शिमला2 महीने पहलेलेखक: साेमदत्त शर्मा
  • कॉपी लिंक
टुटू के लिए जाठियादेवी में पुतला बन रहा, बालूगंज में तैयार किया जा रहा पुतला। - Dainik Bhaskar
टुटू के लिए जाठियादेवी में पुतला बन रहा, बालूगंज में तैयार किया जा रहा पुतला।

आमताैर पर रामलीला और दशहरे काे लेकर शहरवासियाें में हर साल उत्साह रहता है। लाेग दूर-दूर से दशहरा देखने के लिए आते हैं। इसमें सबसे ज्यादा क्रेज जाखू दहशरे का रहता था, जहां पर सबसे बड़ा रावण जलाया जाता था। यहां पर हर साल करीब 80 फीट का रावण तैयार किया जाता था। रावण के साथ-साथ कुंभकरण और मेघनाद के पुतले भी जलाए जाते थे। हर साल इसमें मुख्यतिथि मुख्यमंत्री रहते थे। उन्हीं के हाथाें से रावण दहन का कार्यक्रम हाेता था। मगर इस बार राजधानी शिमला के जाखू मंदिर में दशहरा उत्सव ताे मनाया जााएगा।

मगर यहां पर ना ताे चीफ गेस्ट आएगा और ना ही 80 फीट का रावण जलेगा। जाखू समेत कई अन्य जगह पर रावण दहन भी किया जाएगा। काेराेना प्राेटाेकाॅल के तहत साधारण कार्यक्रम हाेंगे। समरहिल और नाभा कमेटी ने ताे काेराेना के कारण दशहरे के कार्यक्रम काे रद्द भी कर दिया है। बीते दाे साल से काेराेना के कारण दशहरा उत्सव का कार्यक्रम फीका रहता है।

जाखू में होगी रस्म अदायगीः हर वर्ष जाखू मंदिर में विजयदशमी पर शहर का सबसे बड़ा रावण दहन होता था और सैकड़ों लोग कार्यक्रम देखने के लिए मंदिर पहुंचते थे। यहां पर लगभग 80 फीट का रावण जलाया जाता था। कुंभकर्ण और मेघनाद के पुतले भी 50 फीट से ज्यादा रहते थे। मगर इस बार जाखू मंदिर में करीब 30 से 35 फीट का रावण ही तैयार किया जा रहा है। इस बार पुतला दहन की परंपरा को बरकरार रखते हुए केवल रस्म अदायगी होगी। इसमें किसी को भी आने की अनुमति नहीं है। शाम करीब छह बजे यहां पर रावण दहन कार्यक्रम हाेगा।

रावण दहन के लिए आज डीसी से लेनी हाेगी परमिशन
हशरे पर रावण पुतला दहन के लिए इस बार डीसी से भी परमिशन लेना जरूरी किया गया है। इसे लेकर डीसी ने पहले ही आदेश जारी कर दिए थे। हालांकि अभी तक किसी भी कमेटी ने परमिशन नहीं ली है क्याेंकि यह आदेश साेमवार काे जारी किए गए थे। बुधवार काे छुट्टी थी। ऐसे में आज ही सभी कमेटियां परमिशन लेंगी। यह निर्णय अप्रिय घटनाओं को रोकने और आगजनी की घटनाओं पर काबू पाने के लिए लिया गया।
क्योंकि जिन जगहाें पर रावण दहन हाेगा वहां पर फायर विभाग के कर्मचारी भी तैनात किए जाएंगे और काेविड नियमाें का पालन भी करना हाेगा। खासताैर पर जाखू, संकटमोचन मंदिरों व अन्य क्षेत्रों पर काफी लाेग पहुंचते हैं। यहां पर सुरक्षा व्यवस्था जरूरी की गई है। आदेशानुसार रावण पुतला दहन भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों से अलग खुले मैदानों में किया जाना जरूरी है।

शहर में यहां होगा दहन, बालूगंज में 35 फीट का रावण

  • जाखू मंदिर कमेटी के ट्रस्टी का कहना है कि इस बार काेराेना प्राेटाेकाॅल में जाखू मंदिर में रावण दहन किया जाएगा। इसके लिए करीब 30 फीट का रावण तैयार किया जा रहा है। हालांकि यह एक साधारण कार्यक्रम हाेगा, जिसमें काेई मुख्यतिथि नहीं बुलाया जाएगा। यह केवल रस्म अदायगी हाेगी।
  • रामलीला कमेटी टुटू के उपप्रधान ललित शर्मा ने कहा कि इस बार दशहरे पर रावण दहन किया जाएगा। इसके लिए 25 फीट का रावण जलाया जाएगा। लाेगाें से अपील है कि वह काेराेना नियमाें का पालन करते हुए रावण दहन में पहुंचे। भीड़ इकट्ठी ना करें, ताकि दशहरे का असली लुत्फ लिया जा सके।
  • बालूगंज दशहरा कमेटी के प्रधान राजीव का कहना है कि दशहरे पर रावण दहन किया जाएगा। इसमें करीब 35 फीट का रावण जलाया जाएगा। इसके लिए तैयारियां की जा रही है। प्रशासन से परमिशन के बाद काेराेना नियमाें का पालन करते हुए ही कार्यक्रम किया जाएगा।

यहां-यहां पर स्थगित किए गए हैं दशहरे के कार्यक्रम

  • स्पाेर्ट्स एंड क्लचरल साेसाइटी समरहिल के प्रधान राजीव ठाकुर ने कहा कि काेराेना काल के कारण इस बार भी दशहरे पर रावण दहन नहीं हाेगा। समरहिल ग्राउंड में भीड़ काफी ज्यादा हाे जाती है, जिससे काेराेना नियम टूटने का डर रहता है। इसलिए सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए हैं।
  • नाभा रामलीला कमेटी के पदाधिकारी दीपक ठाकुर ने बताया कि इस बार ना रामलीला की गई और ना ही दशहरे पर रावण जलाया जाएगा। काेराेना काल के कारण सारे कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए हैं। यदि अगले साल तक सबकुछ ठीक रहा ताे फिर से धूमधाम से कार्यक्रम किया जाएगा।
खबरें और भी हैं...