• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Two Boys Who Went From Home To Market In Kangra Reached Delhi, Traveled From Una To Delhi By Hiding In The Bathroom In The Train

कांगड़ा में बाजार के लिए निकले 2 बच्चे पहुंचे दिल्ली:ऊना से ट्रेन के बाथरूम में छिपकर किया सफर, सोशल मीडिया की मदद से बरामद

शिमला3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ऊना रेलवे स्टेशन से ट्रेन पकड़कर दिल्ली पहुंच गए दो बालक। - Dainik Bhaskar
ऊना रेलवे स्टेशन से ट्रेन पकड़कर दिल्ली पहुंच गए दो बालक।

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिला से लापता हुए 2 बच्चे दिल्ली स्थित हनुमान मंदिर से बरामद कर लिए गए। दोनों बच्चे महफूज है दिल्ली में रह रहे बच्चों के मामा उन्हें अपने साथ घर ले आए हैं। अब इन्हें दिल्ली से वापस कांगड़ा लाया जा रहा है। पपलोथर के रहने वाले इस दोनों बच्चों की उम्र 13 साल है। जानकारी के अनुसार कांगड़ा जिला स्थित जसवां तहसील के पपलोथर गांव से 2 बच्चे अपने घर से पक्का टियाला बाजार जाने के कह कर घर से निकले, यहां पर पहुंच कर दोनों बच्चे बस पकड़ कर जिला ऊना के दौलतपुर रेलवे स्टेशन पहुंच गए।

यहां से शाम को दिल्ली जाने वाली ट्रेन में हो गए सवार
पुलिस थाना डाडासीबा के इंचार्ज राजेश द्विवेदी ने बताया कि शाम को दिल्ली जाने वाली ट्रेन में दोनों बच्चे सवार हो गए। बिना टिकट के दोनों बच्चों ने ट्रेन के बाथरूम में छुपकर सफर किया। 24 अक्टूबर की सुबह दिल्ली स्टेशन पर उतर गए। जहां से दोनों लड़के घूमते-घूमते हनुमान मंदिर पहुंच गए।

​​​​​​​

जब पुलिस को नहीं लगा सुराग हाथ तो सोशल मीडिया पर डाली तस्वीरें
डीएसपी अंकित शर्मा ने बताया कि 23 अक्टूबर को अपने घर से यह कह कर निकले थे कि वह पक्का टियाला बाजार जा रहे हैं। वही जब काफी समय बाद दोनों बच्चे घर वापस नहीं आए तो परिजन ढूंढने के लिए निकल पड़े। जब उन्हें कुछ पता नहीं चला तो पुलिस के पास लापता होने की शिकायत दर्ज करवाई। जिस पर तुरंत कार्रवाई करते हुए पुलिस ने दोनों बच्चों की खोजबीन शुरू कर दी। काफी तलाशने के बाद भी जब दोनों बच्चों का कोई सुराग नहीं लगा तो सोशल मीडिया पर दोनों बच्चों की फोटो डालकर गुमशुदगी की सूचना देने को कहा।

दिल्ली से व्यक्ति ने फोन कर दी जानकारी हनुमान मंदिर के पास बैठे हैं बच्चे
पोस्ट डालने के कुछ ही समय बाद पुलिस के पास दिल्ली से एक व्यक्ति का फोन आता है जिसमें पुलिस को जानकारी दी कि दोनों बच्चे दिल्ली स्थित हनुमान मंदिर में बैठे हैं। जिसकी सूचना तुरंत दिल्ली में रह रहे बच्चों के मामा को दी गई। जिन्होंने मंदिर से बच्चों को बरामद कर लिया और दोनों को अपने साथ घर ले आए दोनों बच्चे दिल्ली स्थित अपने मामा के घर पर हैं।