• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Voting Started At 12796 Polling Booths In Himachal, People Started Arriving Since Morning, Voting Is Being Done Under Kovid Protocol

हिमाचल उपचुनाव 2021- मतदान:शाम 5 बजे तक 59.91 फीसदी वोटिंग, 12,796 पोलिंग बूथों पर लगी लाइनें; मंडी में 12 लाख से ज्यादा वोटर, दुनिया के सबसे ऊंचा केंद्र तशीगंग

शिमलाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भारत के पहले मतदाता श्याम शरण नेगी ने कल्पा में डाला वोट। - Dainik Bhaskar
भारत के पहले मतदाता श्याम शरण नेगी ने कल्पा में डाला वोट।

हिमाचल प्रदेश में मंडी संसदीय सीट और 3 विधानसभा क्षेत्रों में हो रहे उपचुनाव को लेकर सुबह 8 बजे वोटिंग शुरू हो गई। वोट डालने के लिए लोगों में खासा उत्साह दिखाई दे रहा है। मंडी संसदीय क्षेत्र समेत फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र, अर्की विधानसभा क्षेत्र और जुब्बल कोटखाई विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव हैं। शुक्रवार को ही पोलिंग पार्टियां अपने-अपने पोलिंग स्टेशनों पर पहुंच गई थीं। जबकि दूर-दराज के क्षेत्रों में पार्टियां एक दिन पहले ही पहुंच गईं।

दोपहर 12 बजे तक हिमाचल में 24.48 फीसदी वोटिंग हुई। दोपहर 1 बजे तक 30 फीसदी मतदान हुआ। दोपहर दो बजे तक हिमाचल में 39.38 फीसदी मतदान पहुंच गया। हिमाचल में तीन बजे तक 48.81 फीसदी मतदान हो गया। चार बजे तक 55.43 प्रतिशत मतदान हुआ। 5 बजे तक हिमाचल में 59.91 फीसदी ही मतदान हुआ। सबसे ज्यादा जुब्बल कोटखाई में में 66.10 प्रतिशत वोटिंग हो चुकी है, इसके बाद फतेहपुर में 62.40, अर्की में 61.33 प्रतिशत और मंडी संसदीय क्षेत्र में सबसे कम 49.83 फीसदी वोटिंग हुई।

वहीं, देश के प्रथम मतदाता 104 वर्षीय श्याम सरन नेगी ने भी कल्पा में वोट डाला। जिला प्रशासन ने श्याम सरन नेगी को बूथ तक लाने की पूरी तैयारी कर थी। श्याम सरन नेगी को उनके घर कल्पा से सरकारी वाहन से आदर्श मतदान केंद्र तक लाया गया। नेगी को रेड कारपेट के साथ पारंपरिक किन्नौरी वेशभूषा में वाद्ययंत्रों की धुन के बीच किन्नौरी टोपी व मफलर पहनाकर स्वागत किया गया। मतदान के बाद वाहन से ही वापस घर पहुंचाया गया। श्याम सरन नेगी को चुनाव आयोग ने 2014 के आम चुनाव के दौरान ब्रांड एंबेसडर भी बनाया था। उन्होंने 17वीं बार अपने मत का प्रयोग किया।

वोट डालने के लिए लाइनों में खड़े हुए लोग।
वोट डालने के लिए लाइनों में खड़े हुए लोग।

मंडी संसदीय क्षेत्र में 12 लाख से ज्यादा मतदाता
मंडी संसदीय क्षेत्र में कुल 12 लाख 99 हजार 756 मतदाता हैं। इनमें 6 लाख 38 हजार 756 महिला और 6 लाख 47 हजार 619 पुरुष मतदाता हैं। सर्विस वोटरों की संख्या 13 हजार 374 हैं। विदेश में रह रहे 2 प्रवासी निर्वाचक हैं। इसके अलावा तीसरे जेंडर के 5 मतदाता हैं। वहीं, पूरे संसदीय क्षेत्र में 2365 मतदान केंद्रों पर मतदान होगा, जिसके लिए 15 हजार कर्मचारियों को तैनात किया गया है।

मतदान से पहले थर्मल स्कैनिंग करते स्वास्थ्य कर्मी।
मतदान से पहले थर्मल स्कैनिंग करते स्वास्थ्य कर्मी।

फतेहपुर में सुबह ही लग गई वोटरों की कतारें
फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र में सुबह 7 बजे से ही मतदान केंद्रों के बाहर कतारें लग गई थीं। फतेहपुर में 87 हजार 222 मतदाता हैं। मतदान प्रतिशत 80 फीसदी तक जाने की उम्मीद है। साल 2017 के विधानसभा चुनाव में 82 फीसदी मतदान हुआ था। साल 2019 में लोकसभा चुनाव में 81 फीसदी मतदान हुआ था। फतेहपुर में 141 पोलिंग बूथों पर वोटिंग हो रही है। 8-8 कर्मचारियों को तैनात किया गया है। यहां 30 संवेदनशील, 5 अति संवेदनशील और 5 आदर्श मतदान केंद्र हैं।

हाथ में स्याही लगाते मतदान कर्मी।
हाथ में स्याही लगाते मतदान कर्मी।

विश्व का सबसे ऊंचा पोलिंग स्टेशन तशीगंग तैयार
लाहौल-स्पीति के 24 हजार 486 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। दुनिया का सबसे ऊंचा पोलिंग स्टेशन तशीगंग पर पोलिंग कर्मी पारंपरिक परिधान में वोटरों का स्वागत करेंगे और 100 प्रतिशत पोलिंग सुनिश्चित करेंगे। यहां कुल 47 मतदाता हैं। पुरुष 29 और 18 महिला मतदाता है। लाहौल में 63 और स्पीति में 29 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। लाहौल में 372 और स्पीति में 148 पोलिंग कर्मी तैनात किए गए हैं।

मतदान करते वोटर।
मतदान करते वोटर।
खबरें और भी हैं...