• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Water And Debris Entered The Houses Of 12 People, Goods Got Damaged Due To Water Entering The Shop, People Lost Lakhs Of Rupees

कुल्लू में बारिश ने बरपाया कहर:12 लोगों के घरों में घुसा पानी और मलबा, दुकान के अंदर जलभराव से खराब हुआ सामान, लाखों रुपए का नुकसान

शिमला/कुल्लू3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कुल्लू में दुकानों के अंदर घुसा बारिश का पानी। - Dainik Bhaskar
कुल्लू में दुकानों के अंदर घुसा बारिश का पानी।

हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश हो रही है, जिसने शनिवार को कुल्लू में काफी कहर बरपाया। कुल्लू जिला के मुख्यालय से करीब 3 किलोमीटर दूर बदाह में तीन छोटे-छोटे नालों में मलबा आ गया। यह मलबा और पानी लोगों के घरों और दुकानों में जा घुसा, जिससे लोगों को काफी नुकसान हुआ। घटना के बाद पंचायत प्रतिनिधि ने मौके पर पहुंचकर मुआयना किया।

जिला प्रशासन को इस संबंध में जानकारी दी गई है, ताकि लोगों को मुआवजा मिल सके। यह मलबा और पानी बीती रात को हुई तेज बारिश से आया है और इस दौरान क्षेत्र में अफरा-तफरी का माहौल बना रहा। मलबे के कारण लोगों के घरों में रसोई का व अन्य कमरों में रखा सामान भी खराब हो गया।

बाबा बालक नाथ मंदिर के साथ लगते नाले से आया मलबा

मिली जानकारी के अनुसार, बाबा बालक नाथ मंदिर के साथ वाले नाले में अचानक शुक्रवार देर रात को काफी मलबा और पानी आ गया। जो साथ लगते मकानों और दुकानों में घुस गया। इसके साथ ही थोड़ी दूर बने दो अन्य छोटे छोटे नालों में भी काफी मलबा और पानी आ गया था।

बारिश का पानी दुकान के अंदर चला गया, जिससे सामान खराब हो गया।
बारिश का पानी दुकान के अंदर चला गया, जिससे सामान खराब हो गया।

इन लोगों के घरों को पहुंचा नुकसान

नाले में मलबा और पानी आने के कारण बालक राम, नवीन, राकेश, हीरालाल, सेवक राम, केशव राम, हर्ष, बेलीराम, पारस, रामपाल, मंगल चंद, सुभाष आदि के मकानों में पानी और मलबा जा घुसा, जिससे उन्हें नुकसान हुआ। ग्राम पंचायत बलह के प्रधान देवी सिंह, उप प्रधान बेअंत सिंह ठाकुर, वार्ड पंच प्रेमचंद, रामचंद्र, छेरिंग कुंजुम आदि मौके पर मौजूद रहे।

पंचायत के उपप्रधान बेअंत सिंह ठाकुर ने बताया कि प्रशासन की ओर से मौके पर एक पटवारी को मुआयना करने के लिए भेजा गया। यहां हर बार नाले में मलबा और पानी आता है। वह कई सालों से पुल बनाने की मांग कर रहे हैं, परंतु प्रशासन ने सुनी नहीं। इस बार मलबा और पानी आने के कारण क्षेत्र के लोगों को करीब 15 लाख के आसपास नुकसान होने का अनुमान है।

खबरें और भी हैं...