गाड़ी साहब की रौब ड्राइवर का:जब भी सचिवालय आती है पुलिस की ये गाड़ी ताे ड्राइवर बीच सड़क कर देता है खड़ी

शिमला6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • छोटा शिमला में सचिवालय के ठीक सामने इस गाड़ी को येलो लाइन से बाहर खड़ी कर ड्राइवर हमेशा मेन रोड जाम करता है

अफसराें के कुछ ड्राइवराें के लिए जनता का सुविधा के लिए बनाए गए कायदे कानूनाें का काेई मतलब नहीं है। पुलिस का काम हर तरह के नियम कानून लागू करवाना है। लेकिन पुलिस हेडक्वार्टर की ये गाड़ी जब भी सचिवालय पहुंचती है ताे इस गाड़ी का ड्राइवर यहां पर बीच सड़क पर ही गाड़ी खड़ी कर देता है।

जाहिर है कि इस गाड़ी पर लगे तीन स्टार बताते हैं कि ये गाड़ी पुलिस हेडक्वार्टर के बहुत आला अधिकारियाें में से किसी एक की है। लेकिन ये ड्राइवर अपने अफसराें के ओहदे की परवाह किए गए बगैर सचिवालय आकर हमेशा ही येलाे लाइन से बाहर जाकर अपनी गाड़ी खड़ी करके तमाम नियमाें काे वाॅयलेशन करता है।

16 अप्रैल

शाम 5 बजे जब पुलिस हेडक्वार्टर से ये गाड़ी सचिवालय आई थी ताे भी बीच अफसर काे ड्राॅप करने के बाद पार्किंग में खड़ी करने की बजाय बीच राेड पर खड़ी कर दी गई थी। पीक आवर में सचिवालय के बाहर पहले ही ट्रैफिक का लोड रहता है लेकिन इस गाड़ी के ड्राइवर ने येलो लाइन से बाहर न सिर्फ गाड़ी खड़ी कर दी बल्कि बाहर आकर शीशे साफ करके फिर अन्दर जाकर बैठ गया।

1 जून

दाेपहर 12 बजे के आसपास ये गाड़ी फिर पुलिस हेडक्वार्टर से पुलिस के आला अधिकारी काे लेकर सेक्रेटेरियट आई। लाॅकडाउन खुलने के बाद 5 घंटे की मिली छूट और सचिवालय में अफसराें और स्टाफ की आवाजाही बढ़ने की वजह से सड़क पर भी जाम लग रहा था।

पुलिस अफसर गाड़ी से उतरकर सेक्रेटेरियट के अंदर चले गए। लेकिन अफसर की गाड़ी चलाकर नियम कानून का मजाक समझने वाले इस ड्राइवर ने फिर गाड़ी मेन राेड पर येलाे लाइन से भी बाहर लगा दी। सड़क पर संजाैली की तरफ से आने वाली गाड़ियां इस गाड़ी काे साइड में लगाने के लिए हॉर्न बजाती रही लेकिन इस ड्राइवर ने गाड़ी नहीं हटाई।

खबरें और भी हैं...