पीसमील वर्कर्स चौथे दिन भी टूल डाउन हड़ताल पर:प्रभावित होने लगा रामपुर परिवहन डिपो का काम, समय पर नहीं हो रही बसों की मरम्मत

रामपुर बुशहर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हिमाचल प्रदेश सरकार कब पीसमील वर्करों की सुनेगी। अपनी मांगों को पूरा न होते देख बीते चार दिनों से रामपुर पथ परिवहन निगम के रामपुर डिपो पीसमील वर्कर भी प्रदेश कार्यकारिणी के आह्वान पर टूल डाउन हड़ताल पर बैठे हुए हैं। जिस कारण डिपो की कार्यशाला का काम भी प्रभावित हो रहा है। रामपुर डिपो के पास 29 पीसमील कर्मचारी कार्यरत हैं। जिन्हें बस का टायर बदलने की एवज में 15 रुपए और ब्रेक डाउन पर जाने के लिए दो सौ रूपए दिए जाते हैं।

उन्हें हर काम के अलग अलग रेट दिए जाते हैं। यदि पीसमील कर्मचारी को यदि वहीं रूकना पड़े तो उन्हें अपनी जेब से ही पैसे खर्च कर रुकते हैं। ऐसे में उन्हें परिवार को पालन पोषण करने में भी कई तरह की समस्याओं से दो चार होना पड़ रहा है। पीसमील कर्मचारियों की सरकार से मांग है कि उनके लिए जो पॉलिसी पूर्व सरकार के समय में बनी थी, उसे लागू किया जाए।

वे इस स्थिति में पहुंच चुके हैं कि वे अब कहीं और काम भी नहीं कर सकते हैं। यदि 26 अगस्त तक भी उनकी जायज मांग को सरकार और परिवहन विभाग द्वारा पूरा नहीं किया जाता तो वे टूल डाउन हड़ताल अनिश्चित काल के लिए करेगें। डिपो कार्यशाला के हेड मैकेनिक योगराज सोनी ने कहा कि पीसमील कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने के कारण कार्यशाला का काम प्रभावित हो रहा है। उन्होंने सरकार से यही मांग की पीसमील वर्करों के लिए जो भी नीति बनाई जानी है उसे जल्द बना कर लागू किया जाए।

खबरें और भी हैं...