पेपर लीक मामले में अनिश्चितकालीन हड़ताल:DC ऑफिस शिमला के बाहर चल रहा विरोध प्रदर्शन; सभी जिलों में धरने जारी

शिमला9 महीने पहले
  • `

हिमाचल प्रदेश पुलिस कांस्टेबल पेपर लीक मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस मामले में युवा कांग्रेस ने अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी है। युवा कांग्रेस कार्यकर्ता DC एवं SP ऑफिस शिमला के बाहर हड़ताल पर बैठ गए हैं। यहां गांधीवादी ढंग से प्रदर्शन शुरू किया जा रहा हैं। शिमला की तर्ज पर अन्य जिलों में भी युवा कांग्रेस कार्यकर्ता क्रमिक हड़ताल पर बैठ गए हैं। इनकी मुख्य मांग पेपर लीक मामले की सिटिंग जज से जांच करवाना है। युवा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष निगम भंडारी ने बताया कि जिन पुलिस अधिकारियों की मिलीभगत से पेपर लीक हुआ है, उन अधिकारियों से इस मामले की निष्पक्ष जांच की उम्मीद नहीं की जा सकती है।

उन्होंने बताया कि जब तक सरकार पेपर लीक मामले की जांच सिटिंग जज की निगरानी में नहीं करवाती है तब तक उनकी हड़ताल जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि लगाया कि जयराम सरकार ने पुलिस कांस्टेबल परीक्षा देने वाले 75 हजार से अधिक परिवारों के साथ खिलवाड़ किया है। खासकर उन बेरोजगारों की उम्मीदों पर पानी फिरा है जिन्होंने दिन रात मेहनत करके परीक्षा पास कर ली थी। उन्होंने सवाल उठाया कि जब पुलिस की परीक्षा का पर्चा ही लीक हो रहा है। ऐसे में दूसरे विभागों की परीक्षा में पारदर्शिता की उम्मीद नहीं की जा सकती है।

DGP को पद से हटाए सरकार: भंडारी

निगम भंडारी ने DGP संजय कुंडू को पद से हटाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि कुंडू के पद पर रहते हुए इस मामले की निष्पक्ष जांच संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि SIT में ईमानदारी से काम करने वाले अफसरों को फ्री-हैंड दिया जाए और जिन अधिकारियों की कार्य प्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं, उन्हें SIT से हटाया जाए। उन्होंने जज की निगरानी में इस मामले की जांच की मांग की है।