23 मई को प्रोफेसरों की भूख हड़ताल:HGCTA रामपुर के अध्यक्ष बोले- सातवें वेतन आयोग के वेतनमान को प्रदेश सरकार लागू नहीं कर रही

रामपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एचजीसीटीए यूनिट जीडीसी रामपुर के अध्यक्ष कैप्टन संदीप कुमार। - Dainik Bhaskar
एचजीसीटीए यूनिट जीडीसी रामपुर के अध्यक्ष कैप्टन संदीप कुमार।

हिमाचल प्रदेश राजकीय प्राध्यापक संघ के आह्वान पर पीजी कॉलेज रामपुर के सभी प्राध्यापक एक दिन की भूख हड़ताल करेंगे। यह भूख हड़ताल 23 मई को होगी। एचजीसीटीए यूनिट जीडीसी रामपुर के अध्यक्ष कैप्टन संदीप कुमार ने कहा कि प्राध्यापकों को यूजीसी से अनुमोदित सातवें वेतन आयोग के वेतनमान को प्रदेश सरकार लागू नहीं कर रही है। पूरे देश में 29 में से 27 और नौ केंद्र शासित प्रदेशों में ये वेतनमान लागू किया जा चुका है, लेकिन हिमाचल और पंजाब के विश्वविद्यालयों के प्राध्यापक इससे अभी तक वंचित हैं।

इसको लेकर संघ साढ़े छह वर्षों के दौरान मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री, सभी मंत्रियों, विधायकों, शिक्षा सचिव और शिक्षा निदेशक से कई बार आग्रह कर चुका है। इसके बाद भी उनकी मांग आज तक पूरी नहीं की जा रही है। संघ के सभी सदस्यों ने प्रदेश सरकार से उनकी जायज मांगों को जल्द पूरा करने की गुहार लगाई है।

मांगे पूरी नहीं हुई तो 30 मई से चेन भूख हड़ताल

संदीप कुमार ने कहा कि सातवें वेतनमान का मिलना प्राध्यापकों का अधिकार है। यदि मांगे पूरी नहीं हुई तो अब 23 को दिवसीय भूख हड़ताल। 24 मई को 12 बज कर 30 मिनट से दोपहर 1:30 बजे तक एक घंटे तक धरना प्रदर्शन किया जाएगा। अगर इसके बाद भी मांगे पूरी नही हुई तो 30 मई से चेन भूख हड़ताल पर जाएंगे।