निगम की हड़ताल:कचरा उठाने वालों की हड़ताल से शहर में दूसरे दिन भी डोर-टू-डोर कूड़ा नहीं उठा

सोलन3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गारबेज कलेक्शन एकत्रित करने वाले लोगों ने की हड़ताल। - Dainik Bhaskar
गारबेज कलेक्शन एकत्रित करने वाले लोगों ने की हड़ताल।
  • दैनिक भोगी बनाने की कर रहे है मांग, प्रशासन को दिया एक महीने का समय

शहर में कचरा कलेक्शन करने वालों की हड़ताल की वजह से शनिवार को दूसरे दिन भी घरों से गारबेज नहीं उठाया गया। शहर के डोर-टू-डोर गारबेज कलेक्शन का जिम्मा आजीविका मिशन केंद्र के माध्यम से आउटसोर्स पर लगे 155 लोगों पर हैं। ये लोग सरकार से दैनिक भोगी कर्मचारी बनाने की मांग कर रहे हैं।

नगर निगम सोलन के मेयर और अधिकारियों की मध्यस्था के बाद इन लोगों ने अपनी मांग मानने के लिए सरकार को एक माह समय दिया है। शहर के 17 वार्डों में डोर-टू-डोर गारबेज कलेक्शन काफी समय से हो रही है। पहले यह काम ठेकेदारों के माध्यम से करवाया जा रहा था और अब इसे आजीविका मिशन केंद्र के तहत एक कंपनी के माध्यम से करवाया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार इन लोगों को 9000 रुपए प्रति माह का मानदेय दिया जाता है। शुक्रवार को इन लोगों मिशन केंद्र के तहत काम करने से मना करते हुए फिर से अपने को दैनिक भोगी कर्मचारी बनाने की मांग उठाई और हड़ताल शुरू कर दी। इससे पूरे शहर में डोर-टू-डोर कलेक्शन का काम ठप पड़ गया।

शनिवार को भी इन लोगों ने नगर निगम के बाहर धरना दिया। इस पर मेयर और अन्य अधिकारियों की समझाइश पर इन्होंने अपनी मांग को लेकर एक माह का समय दिया। अब इन कर्मचारियों ने सोमवार को काम पर लौटने की बात कही है। नगर निगम के कमिश्नर एलआर वर्मा ने कहा कि इनकी मांग के बारे में विभाग को अवगत करवा दिया है।

खबरें और भी हैं...