पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुश्किल भरा सफर:बदतर हालत के चलते छैला बलग सड़क पर वाहन चलाना हुआ कठिन, शिमला, सिरमौर और सोलन जिलों को जोड़ती है ये सड़क

ठियोग3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छैला बलग कुम्हारहट्टी सड़क का सैंज के पास खस्ताहाल हिस्सा। - Dainik Bhaskar
छैला बलग कुम्हारहट्टी सड़क का सैंज के पास खस्ताहाल हिस्सा।
  • सैंज के आसपास से माईपुल तक सड़क बेहद खस्ता, कई जगह पाइपों की लीकेज से दिक्कत

ठियोग उपमंडल के छैला से बलग होते हुए सिरमौर व सोलन जिलों को जोड़ने वाली सड़क की हालत कई सालों से बदतर हालत में है। छैला से आगे माईपुल तक सड़क में बड़े बड़े गड्ढे पड़े हैं जिस कारण इस सड़क पर वाहन चालकों को अपने वाहन चलाने में खासी परेशानी आ रही है।

इस सड़क के साथ ही पराला में सेब मंडी भी हैं जहां से सेब इसी सड़क से होते हुए देश की मंडियों में जाता है लेकिन इस सड़क की सुध बरसों से नहीं ली जा रही है। सड़क के टूटा फूटा होने के कारण अकसर वाहन दुर्घटनाएं भी होती रहती हैं। सैंज से आसपास से माईपुल तक सड़क बेहद खस्ता हालत में है जिस कारण छोटे वाहनो को यहां चलाना बेहद खतरनाक है। नीचे बहती गिरी नदी में वाहनों के गिरने का खतरा हमेशा बना रहता है। सड़क के निचले हिस्से में क्रैश बैरियर नहीं हैं। सेब सीजन में बहुत व्यस्त रहने वाली ये सड़क अन्य दिनों में भी काफी व्यस्त रहती है।

अपर शिमला का 40 प्रतिशत सेब इसी सड़क से देश की मंडियों में पहुंचता है। ठियोग से चौपाल, पुलवाहल, राजगढ़, सोलन और कुम्हारहट्टी जाने वाले वाहन इसी सड़क से गुजरते हैं। बर्फ के दिनों में कुफरी में राजमार्ग बंद होने पर रोगियों को अस्पताल पहुंचाने के लिए भी अपर शिमला के लोग इसी सड़क का प्रयोग करते हैं। छैला से कुम्हारहट्टी तक ये सड़क लोकनिर्माण विभाग के ठियोग, राजगढ़ और सोलन मंडलों के तहत आती है। प्राप्त जानकारी के अनुसार इस सड़क की मरम्मत व सुधार का ठेका राजगढ़ मंडल के जरिये ठेके पर दिया गया है।

लेकिन छैला से माईपुल के बीच सड़क के 15 किलोमीटर हिस्से की दशा में सुधार न होने से लोगों को काफी परेशानी हो रही है। बताया जा रहा है कि ठियोग के तहत आने वाले इस सड़क के 18 किलोमीटर हिस्से की टारिंग हर साल तीन किलोमीटर के हिसाब से होनी है जिसमे 6 साल लग जाएंगे। सैंज स्थित लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता नेत्र प्रकाश ने बताया कि सड़क की मरम्मत का कार्य राजगढ़ डिविजन के तहत हो रहा है इसलिए वे कुछ नहीं कर पा रहे हैं।

एक ही सड़क का कार्य दो डिविजन में नहीं कर सकते। उन्होंने माना कि सड़क की हालत बेहद खराब है और ठेकेदार को सड़क के गड्ढे भरने का कार्य तुरंत शुरू करने को कहा गया है। सैंज के साथ पानी की पाइपों के रिसाव को ठीक करने के लिए भी जलशक्ति विभाग को कहा गया है। उधर इस सड़क से लाभान्वित होने वाली बलग, मुंडू, बासाधार, पुलवाहल सहित बालसन व साथ लगती सिरमौर व चौपाल क्षेत्र की पंचायतों के लोग भी सड़क की दुर्दशा से बेहद परेशान हैं।

खबरें और भी हैं...