अब बरसात के बाद होगी बांगरण पुल की मरम्मत:लोगों के विरोध के बाद PWD ने बदला फैसला; अस्थाई पुल भी हटाया

पांवटा साहिब3 महीने पहले
19 जून को दैनिक भास्कर डिजिटल में चली पंचायत प्रतिनिधियों के विरोध की खबर।

हिमाचल प्रदेश के जिला सिरमौर में हो रहे बांगरण पुल के निर्माण पर दैनिक भास्कर डिजिटल ने ग्रामीणों और पंचायत प्रतिनिधियों के विरोध की खबर चलाई थी। पंचायत प्रतिनिधियों ने बरसात में हो रहे मरम्मत कार्य पर सवाल खड़े किए थे। इसका संज्ञान लेते हुए लोक निर्माण विभाग ने पुल की मरम्मत का कार्य बंद कर दिया है। जिसके बाद वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई है।

गौरतलब है कि 17 जून को जिला सिरमौर के DC राम कुमार गौतम ने PWD की अनुशंसा पर गिरी नदी पर बने बांगरण पुल की मरम्मत के लिए 16 जुलाई तक यातायात बंद करने का आदेश दिया था। इससे आम जनता को आवाजाही में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। जिसके बाद पंचायत प्रतिनिधियों ने बरसात में किए जा रहे मरम्मत कार्य पर सवाल उठाए थे।

गिरी नदी पर बना बांगरण पुल।
गिरी नदी पर बना बांगरण पुल।

पंचायत प्रतिनिधियों ने कहा था कि गिरी नदी में बरसात में बाढ़ आने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में आवाजाही के लिए वैकल्पिक व्यवस्था बंद हो जाएगा। इसके अलावा मानपुर देवड़ा के समीप गिरी नदी पर बने पुल से आवाजाही के लिए 10 किलोमीटर का चक्कर लगाना पड़ेगा। DC ने इस संबंध में PWD से रिपोर्ट मांगी थी कि कार्य जारी रखा जाए या फिर बंद किया जाए।

पांवटा साहिब मंडल के अधिशासी अभियंता KL चौधरी ने कहा कि पुल की मरम्मत का काम रोक दिया है। अभी मानसून सीजन में लोगों को आवाजाही में दिक्कत आ सकती थी। अस्थाई पुल को भी अब हटा दिया गया है। अब मानसून सीजन खत्म होने के बाद काम शुरू होगा।