अर्की महाविद्यालय में सड़क सुरक्षा सप्ताह:SHO ने विद्यार्थियों को बताए रोड सेफ्टी के नियम, बोले- सतर्कता ही बचाव का एकमात्र उपाय

अर्की2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के अर्की महाविद्यालय में सड़क सुरक्षा सप्ताह को लेकर एक जागरुकता कार्यक्रम आयोजित किया गया , जिसमें SHO अर्की गोपाल सिंह ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। कॉलेज के प्राचार्य डॉ. जगदीश शर्मा विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित रहे।

मुख्यतिथि SHO अर्की गोपाल सिंह ने अपने सम्बोधन में कहा कि आज के समय में सभी को सड़क सुरक्षा को लेकर ज्यादा जागरूक होने की आवश्यकता है। सड़क दुर्घटना होने का सबसे बड़ा कारण नशे में गाड़ी चलाना है। वाहन चालक अकसर गाड़ी चलाते समय नशे में होते हैं, जिस वजह से दुर्घटनाओं का ग्राफ बढ़ता है।

गोपाल सिंह ने कहा कि सभी को चौपहिया वाहन चलाते वक्त सीट बेल्ट का इस्तेमाल करना चाहिए। दोपहिया वाहन चालकों को भी हेलमेट लगाना चाहिए। अगर कोई व्यक्ति ऐसा नहीं करता है तो नियमों के अनुसार कानूनी कार्रवाई करते हुए उनका चालान काटा जाएगा। चौराहों पर सिग्नल देखकर जेब्रा क्रॉसिंग करनी चाहिए।

गोपाल सिंह ने कहा कि इसके अलावा लोग सड़क पर वाहन चलाते वक्त ज्यादा सावधानी बरतें। अकसर सड़क पर चलते वक्त लोग मोबाइल फोन व ईयरफोन का इस्तेमाल करते हैं, जिस वजह से वह ध्यान नहीं रख पाते कि वह सड़क पर पैदल चल रहे हैं, जिस वजह से भी दुर्घटनाएं हो रही हैं।

इस मौके पर रोड सेफ्टी क्लब के संयोजक प्रो. मनीष, प्रो. अरुण, अधीक्षक चमन लाल रघुवंशी, सहित महाविद्यालय के विद्यार्थी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...