सोलन में नकली दवा बनाने का मामला:चौथा आरोपी गिरफ्तार; मुख्य आरोपी की कॉल डिटेल से पकड़ा; दवाओं की कोटिंग का काम करता था

नालागढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के इंडस्ट्रियल एरिया बद्दी में नकली दवा बनाकर बेचने के मामले में ड्रग विभाग की टीम ने रविवार रात को एक और आरोपी को गिरफ़्तार किया। मामले में अब तक कुल 4 आरोपियों को गिरफ़्तार किया जा चुका है। देर रात गिरफ़्तार हुए आरोपी की पहचान नरेश कुमार पुत्र राम किशोर सिंह, निवासी गांव कीरतपुरी उमरीकला, मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश के रूप में हुई।

चौथे आरोपी नरेश की गिरफ़्तारी मुख्य आरोपी मोहित बंसल निवासी आगरा की कॉल डिटेल से हुई। जब टीम ने पूछताछ की तो पता लगा कि नरेश कुमार मुख्य आरोपी मोहित बंसल के लिए नकली दवा बनाने की प्रक्रिया में टेबलेट्स की कोटिंग का काम कर रहा था। ड्रग विभाग की टीम सोमवार को आरोपी को कोर्ट में पेश करके रिमांड हासिल करेगी।

बता दें कि 22 नवंबर को ड्रग विभाग की टीम ने 3 आरोपियों को बद्दी बैरियर से गिरफ़्तार किया, जो नक़ली दवाएं बेचने जा रहे थे। जांच करते हुए पुलिस और ड्रग विभाग की टीम बद्दी में अवैध रूप से चल रही फार्मा यूनिट को पकड़ा। पुलिस ने मोहित बंसल निवासी आगरा, अतुल गुप्ता पुत्र विनोद, निवासी ओरईया UP और विजय कौशल पुत्र राम रत्न, निवासी गांव दुदिया, इंदौर, मध्यप्रदेश को गिरफ़्तार किया था।

24 प्रकार की दवाएं हो चुकीं बरामद
ड्रग विभाग की टीम ने अब तक 24 अलग-अलग प्रकार की दवाएं बरामद की हैं, जिसमें हाइड्रोक्लोरोथियाज़ाइड, ड्रोटाराविन, टेल्मिसर्टन, रोसुवास्टेटिन, एसिक्लोफेनाक, मोंटेलुकास्ट, कैल्शियम, कोलेकैल्सिफ़ेरोल आईपी कच्चे माल और टैबलेट शामला हैं। इसके अलावा आरोपियों के घरों से एटोरवास्टेटिन, टैजोलक एम, यूरिस्पा, टैजोलैक 40, जीरोडॉल TH-4 और TH-8 आदि के फॉयल बरामद किए गए।

जल्द होंगी अन्य गिरफ्तारियां
ड्रग कंट्रौलर नवनीत मारवाह ने बताया कि टीम जल्द ही और भी गिरफ्तारियां कर सकती है, जो नक़ली दवा कारोबार को चला रहे थे। उन्होंने बताया कि चौथी गिरफ्तारी देर रात हुई। मामले में गंभीरता से जांच की जा रही है और दोषियों के खिलाफ सख़्त कार्रवाई होगी।

खबरें और भी हैं...