पुलिस भर्ती पेपर लीक पर सरकार को घेरा:देवभूमि जनहित पार्टी अध्यक्ष बोले- पुलिस ही पुलिस की निष्पक्ष जांच कैसे करेगी

सोलन3 दिन पहले

पुलिस भर्ती पेपर लीक मामले में घिरी हिमाचल सरकार के खिलाफ अब देवभूमि जनहित पार्टी ने भी खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पार्टी प्रदेश अध्यक्ष ने मांग की है कि इस मामले में CBI जांच होनी चाहिए, क्योंकि पुलिस मामले में शामिल है तो उसकी इन्वेस्टिगेशन निष्पक्ष नहीं हो सकेगी।

देवभूमि क्षत्रिय संगठन के प्रदेश अध्यक्ष रुमित सिंह ठाकुर शनिवार शाम 4 बजे सोलन के देउंघाट पहुंचे। उन्होंने पार्टी का नया कार्यालय खोलने के अवसर पर कहा कि सरकार और पुलिस की गलती का नुकसान प्रदेश के 74000 युवाओं को उठाना पड़ रहा है। प्रदेश के युवाओं ने पुलिस भर्ती की तैयारी के लिए कड़ी मेहनत की थी।

उन्होंने कहा कि ग्राउंड टेस्ट में पास युवाओं ने लिखित परीक्षा दी। रिजल्ट आया तो पता चला कि पेपर पहले ही लीक हो गया। आखिर ऐसा कैसे हुआ, इसमें जरूर पुलिस के अधिकारी शामिल रहे हैं। इसके बावजूद सरकार ने गंभीर और संवेदनशील मामले की जांच पुलिस को ही सौंप दी।

अफसरों की मिलीभगत के बिना संभव नहीं

रुमित ने कहा कि पेपर लीक पुलिस अधिकारियों की मिलीभगत के बिना संभव नहीं है। ऐसे में मामले की निष्पक्ष जांच के लिए केस CBI को दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि देवभूमि जनहित पार्टी ऐसे लोगों से संपर्क कर रही है जो भाजपा और कांग्रेस से प्रताड़ित हैं। ऐसे लोगों को बाहरी पार्टी में शामिल होने की बजाय अपने प्रदेश की पार्टी जॉइन करनी चाहिए। सोलन के देउंघाट में कार्यालय खोला गया है। जल्द ही यहां पार्टी का कामकाज शुरू हो जाएगा।