परवाणू के युवा समाजसेवियों की अच्छी पहल:कसौली रोड पर शुरू की नेकी की दीवार, जरूरतमंद निशुल्क ले सकेंगे सामान

परवाणू2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हिमाचल के ग्रेटर परवाणू के युवा समाज सेवियों ने नेकी की दीवार बना कर समाज सेवा का नया रास्ता चुना है। सोमवार को परवाणू के ओल्ड कसौली रोड पर ओम स्वीट्स के साथ डिस्प्ले लगाकर समाज सेवा का यह कार्य शुरू किया गया। नेकी की दीवार के लिए बने डिस्प्ले में कोई भी सामान छोड़ सकता है व कोई भी जरूरतमंद अपनी जरूरत का सामान निशुल्क लेकर जा भी सकता है।

ग्रेटर परवाणू के 3 युवा समाज सेवी सोहन राजपूत, हरविंदर ठाकुर व विनय जैन ने नेकी की यह दीवार शुरू की है। इस अवसर पर वार्ड 8 की पार्षद मोनिशा शर्मा बतौर मुख्यतिथि पहुंची व रिब्बन काट कर सेवा भाव से समर्पित नेकी की दीवार का शुभारंभ किया। लोगों में इस पुनीत कार्य को लेकर उत्साह भी देखा गया। शहरवासियों ने ना केवल इस नेक कार्य की जम कर सराहना की बल्कि इस कार्य में अपना सहयोग भी दिया।

परवाणू वार्ड 8 की पार्षद मोनिशा शर्मा ने बढ़ाया हौंसला।
परवाणू वार्ड 8 की पार्षद मोनिशा शर्मा ने बढ़ाया हौंसला।

बता दे की युवा समाज सेवी सोहन राजपूत व हरविंदर ठाकुर जन सेवा का कार्य करते रहते है। इन्होने लम्पी बीमारी के दौरान गौवंश की खूब सेवा की व उनकी दवा आदि का भी प्रबंध किया। इसके अलावा वे सड़क दुर्घटना अथवा अन्य कारणों से चोटिल गौवंश की मरहम पट्टी करने का कार्य भी करते रहते है।

जरूरतमंद और ग़रीब लोगों को मिलेगी सहायता
युवा समाज सेवी सोहन राजपूत ने बताया की नेकी की दीवार के अंतर्गत सभी जरूरतमंद व ग़रीब लोगों की हर संभव सहायता की जायेगी। उन्होंने बताया की सर्दियों का आग़ाज़ हो चुका हैं इसीलिए शुरुआत कपड़ों से की गईं है। लोग चाहे तो कपड़ो के अलावा अन्य सामान भी दे सकते है। सोहन ने कहा को यह कार्य यहीं तक समाप्त नहीं होगा, अपितु परवाणू नगर परिषद के आसपास भी यह नेकी की दीवार बनाई जाएगी ताकि अधिक से अधिक जरूरतमंद व ग़रीब लोगों की सहायता की जा सके।

सोहन राजपूत ने कहा इस नेक कार्य में विनय जैन, प्रवीण पुंज, विनोद गुप्ता, हंसराज ठाकुर, रोहित शर्मा, अतुल शर्मा, पवन समेला ने पूरा साथ दिया। इनके अलावा इस दीवार को बनाने में गैलेक्सी मार्केटिंग कंपनी, लक्ष्मी आयरन स्टोर, लक्की मार्केटिंग कंपनी, ग्रीन शेफ एप्लाईंसेंस लिमिटेड, पार्षद मोनिशा शर्मा एवं राजीव सचदेवा का भी महत्वपूर्ण योगदान रहा।