6 माह में PNG से जुड़ेगा हमीरपुर:ऊना में 516 घरों तक पहुंची गैस, 6 और CNG स्टेशन बनेंगे, 250 करोड़ का प्रोजेक्ट

ऊना3 महीने पहले

हिमाचल प्रदेश में ऊना के बाद हमीरपुर और बिलासपुर जिला भी पीएनजी गैस की सुविधा से जुड़ने जा रहे हैं। इस प्रोजेक्ट पर करीब पौने 4 साल से काम चल रहा है। भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड अब तक 103 किलोमीटर गैस पाइप लाइन बिछा चुकी है। प्राजेक्ट पर लगभग 250 करोड़ की लागत आएगी।

प्रोजेक्ट के तहत 7 सीएनजी स्टेशन तैयार हैं। इनमें मैहतपुर, बडूही, अंब, दौलतपुर, संतोषगढ़, नादौन और सुजानपुर शामिल हैं। तीन सीएनजी स्टेशन फंक्शनल हाे चुके हैं, जबकि तीन को एक सप्ताह के भीतर शुरू कर दिया जाएगा। अगले साल मार्च तक कंपनी छह और सीएनजी स्टेशन स्थापित करेगी।

ऊना जिला के 516 घरों में पीएनजी गैस पहुंच चुकी है। इनमें से अजोली में 329 और रक्कड़ कॉलोनी के 187 गैस कनेक्शन शामिल हैं। इसके अलावा आसपास के क्षेत्र में कई कनेक्शन दिए जा चुके हैं, जहां पीएनजी की सप्लाई जल्द शुरू हो जाएगी। अब कंपनी का सनोली, बीनेवाल और संतोषगढ़ एरिया पर फोकस है।

2029 में पूरा होगा प्रोजेक्ट

प्रोजेक्ट को 2029 तक पूरा किया जाना है, जिसमें 28170 गैस कनेक्शन देने का लक्ष्य है। प्रोजेक्ट भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड के पास है। जो तीन जिलों में पीएनजी व सीएनजी गैस पहुंचाने के काम में जुटी है।

एलपीजी से 25 फीसदी सस्ती

पीएनजी गैस उपभोक्ता के लिए बेहतर विकल्प है। जो एलपीजी गैस से लगभग 25 फीसदी सस्ती है। बता दें कि पीएनजी गैस की सुविधा पहले देश के बड़े शहरों तक थी। ऊना पीएनजी गैस से जुड़ने वाला हिमाचल का पहला जिला है। इसके बाद हमीरपुर और बिलासपुर तक पीएनजी गैस पहुंचेगी।

5500 रुपये सिक्योरिटी

कंपनी ने गैस कनेक्शन की इंस्टालेशन का 6 हजार रुपए शुल्क रखा है। जिसमें 5500 रुपए सिक्योरिटी के हैं, जो रिफंडेबल हैं। जबकि 500 रुपए प्रोसेसिंग फीस के हैं। इस बारे कंपनी के रक्कड़ कॉलोनी ऑफिस में संपर्क कर सकते हैं।

कंपनी के आरसीएम श्याम शर्मा ने कहा कि तीन जिलों में पीएनजी और सीएनजी के प्रोजेक्ट पर काम जारी है। छोटे-छोटे कस्बों पर पीएनजी के लिए फोकस है। इसकी डीसीयू के माध्यम से सप्लाई होगी। अभी छह और सीएनजी स्टेशन बनाए जाएंगे।

खबरें और भी हैं...