ऊना में साहित्यकार ओम प्रकाश शांत का निधन:गांव डंगोली में हुआ अंतिम संस्कार, सामाजिक संस्थाओं ने जताया शोक

ऊना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
साहित्यकार एवं कवि ओम प्रकाश शांत। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
साहित्यकार एवं कवि ओम प्रकाश शांत। (फाइल फोटो)

हिमोत्कर्ष परिषद के पूर्व महासचिव, प्रख्यात साहित्यकार एवं कवि ओम प्रकाश शांत (92) का निधन हो गया। उनका शुक्रवार को पैतृक गांव डंगोली के स्वर्गधाम में अंतिम संस्कार किया गया। उनके पुत्र शरत चंद ने उन्हें मुखाग्रि दी। साहित्य, सामाजिक संगठनों से जुड़े लोगों ने उन्हें भावभीनी विदाई दी।

बता दें कि साहित्यकार ओम प्रकाश शांत DAV सीनियर सेकेंडरी स्कूल ऊना में बतौर हिंदी प्राध्यापक अपनी सेवाएं दे चुके थे। वह प्रदेश की अग्रणी समाजसेवी संस्था हिमोत्कर्ष परिषद के संस्थापक सदस्यों में से थे। लंबे अरसे तक हिमोत्कर्ष में महासचिव के पद पर रहे। डंगोली गांव में हिमोत्कर्ष के माध्यम से सीनियर सेकेंडरी स्कूल के निर्माण में उनका अहम योगदान रहा। ओम प्रकाश शांत डंगोली में हिमोत्कर्ष परिषद द्वारा संचालित आर्युवेदिक डिस्पेंसरी के लिए भी वह सेवाएं प्रदान करते रहे।

उधर, साहित्यकार ओम प्रकाश शांत के निधन पर विभिन्न सामाजिक संस्थाओं ने दुख प्रकट किया है। उनके निधन पर स्वतंत्रता सेनानी सत्यभूषण शास्त्री, हिमोत्कर्ष प्रदेशाध्यक्ष जतिंद्र कंवर, वरिष्ठ उपाध्यक्ष पूर्ण लाल शर्मा, महासचिव डॉ. रविंद्र सूद, नरेश सैनी, ठा. यशपाल सिंह, कार्यकारिणी सदस्य अशोक ऐरी, पतंजलि योग पीठ से सुर्दशन शर्मा, पूर्व प्रधान रामपाल, अनोख राम, ऊना जनहित मोर्चा के अध्यक्ष राजीव भनोट और प्रेस क्लब ऊना के अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा सहित अन्यों ने शोक व्यक्त किया है।