प्राथमिकी दर्ज:दोषी डीलरों पर केस दर्ज कर लाइसेंस रद्द करने की मांग

चाईबासा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

खाद्य सुरक्षा जन अधिकार मंच के तत्वावधान में मंगलवार को पुराना समाहरणालय परिसर के समक्ष जिला स्तर पर जनवितरण प्रणाली में हो रही कालाबाजारी के विरोध में एक दिवसीय धरना दिया गया। धरना के अंत में एक प्रतिनिधिमंडल द्वारा उपायुक्त अनन्य मित्तल को मांग पत्र सौंपा गया। जिसमें में कहा गया है कि जिला में राशन की कटौती पर पूर्ण रोक लगाई जाए। मांग पत्र के साथ संलग्न तमाम शिकायतों का त्वरित कार्रवाई कर कार्डधारियों को मुआवजा सहित बकाया राशन भुगतान किया जाए। दोषी डीलरों पर प्राथमिकी दर्ज कर लाइसेंस रद्द करने एवं दोषी पदाधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की गई है।

जिन परिवारों का राशन कार्ड डिलीट किया गया है, वैसे परिवारों को भी तुरंत नया राशन कार्ड दिया जाए। कार्डधारी और ग्रामसभा को जानकारी दिए बिना राशन कार्ड डिलीट करना बंद करने की मांग भी शामिल है। धरना को खाद्य सुरक्षा जन अधिकार मंच के कई पदाधिकारी तथा सामाजिक संगठन के लोगों ने संबोधित किया। सभी ने राशन में हो रही कालाबाजारी पर रोक लगाने तथा दोषी राशन डीलरों तथा संबंधित पदाधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की।

धरने पर बैठे ग्रामीण राशन डीलर चोर है... डीएसओ, एमओ चोर है। आदि नारे लगा रहे थे। जोहार संस्था के रमेश जेराई ने कहा कि प्रत्येक पंचायत में हमारे ही मुखिया एवं पंचायती राज के जनप्रतिनिधि मौजूद हैं। झारखंड अलग राज्य गठन के बाद तथा पंचायती राज के बाद भी भ्रष्टाचार चरम पर है। संगठित और जागरूक होकर संकल्प लेने की जरूरत है। धरना में टोंटो प्रखंड के राशन कार्ड धारी सैकड़ों की संख्या में मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...