दुर्गा पूजा:प्रतिमा विसर्जन की वीडियो रिकॉर्डिंग व भीड़ क्षेत्र में ड्रोन कैमरे से होगी निगरानी

चाईबासा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दुर्गा पूजा को लेकर आयोजित बैठक में उपस्थित प्रशासनिक पदाधिकारी व अन्य। - Dainik Bhaskar
दुर्गा पूजा को लेकर आयोजित बैठक में उपस्थित प्रशासनिक पदाधिकारी व अन्य।

शनिवार को पश्चिमी सिंहभूम जिला समाहरणालय स्थित सभागार में जिला दंडाधिकारी सह उपायुक्त अनन्य मित्तल की अध्यक्षता में दुर्गा पूजा में बेहतर सुरक्षा तथा विधि व्यवस्था संधारण को लेकर प्रशासनिक पदाधिकारियों संग बैठक आयोजित की गई। इस दौरान उपायुक्त द्वारा सभी क्षेत्रीय प्रशासनिक व पुलिस पदाधिकारियों को क्षेत्र अंतर्गत दुर्गा पूजा के आलोक में बनने वाले पूजा पंडाल एवं विसर्जन मार्गों का भौतिक सत्यापन करने का निर्देस दिया गया। पूजा पंडाल एवं विसर्जन के दौरान पहचान पत्र सहित स्वयंसेवकों की मौजूदगी, फ्लेक्स अधिष्ठापन कर विधि-व्यवस्था संधारण से संबंधित प्रमुख दूरभाष नंबरों का प्रदर्शन, सीसीटीवी व ड्रोन कैमरे से निगरानी तथा पूजा पंडाल एवं आसपास के क्षेत्रों को ध्रूमपान रहित क्षेत्र घोषित करने, पूजा पंडाल के माध्यम से संबंधित मुहिम को अवगत करवाने, पूजा पंडालों एवं संवेदनशील स्थानों पर पर्याप्त मात्रा में दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति एवं सभी की उपस्थिति को सुनिश्चित करने हेतु निर्देशित किया गया।

इसके अलावा क्षेत्र के असामाजिक तत्वों को चिह्नित कर विधि सम्मत कार्रवाई करने तथा सोशल मीडिया एवं अन्य माध्यमों से सौहार्द बिगाड़ने वालों पर कड़ी निगरानी रखने का निर्देश दिया गया। इसके अलावा समस्त विसर्जन कार्यक्रम का वीडियो रिकॉर्डिंग तथा भीड़भाड़ वाले इलाकों में ड्रोन कैमरे के साथ निगरानी रखने, क्षेत्र में तैनात दंडाधिकारी एवं पुलिस कर्मी स्वरक्षा उपकरण से लैस रहकर दायित्व का निर्वहन करने की बात कही गई।

डीसी ने कहा- आपातकालीन व्यवस्था के लिए मेडिकल टीम का गठन हो

बैठक के दौरान उपायुक्त ने बिजली विभाग के कार्यपालक अभियंता को सतर्कता के साथ विद्युत प्रवाह को जारी रखने तथा किसी भी आपात सेवा हेतु प्रमंडल क्षेत्र में कंट्रोल रूम संचालित कर त्वरित समस्याओं का निदान करने की बात कही गई। पंडालों के बिजली व्यवस्था का पूर्व से ही आकलन करने के अलावा पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल को जल संचरण व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए कहा गया। इसके अलावा पाइप लाइनों के लिकेजों का निस्तारण करने, चाईबासा-चक्रधरपुर नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी को क्षेत्र में साफ-सफाई की व्यवस्था हर हाल में सुनिश्चित करने, विसर्जन मार्गों को साफ और व्यवस्थित रखने तथा अग्निशमन पदाधिकारी को अग्निरोधक व्यवस्था का निरीक्षण करने हेतु निर्देशित किया गया। वहीं बैठक में सिविल सर्जन को सदर अस्पताल सहित सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में आपातकालीन व्यवस्था हेतु मेडिकल टीम का गठन करने व आपात स्थिति में एंबुलेंस सेवा को सुचारू बनाए रखने के लिए निर्देशित किया गया।

खबरें और भी हैं...