वृक्षारोपण कार्यक्रम का अयोजन:पोषण वाटिका महाभियान कार्यक्रम का आयोजन

चतरा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कार्यक्रम में उपस्थित किसान। - Dainik Bhaskar
कार्यक्रम में उपस्थित किसान।

स्थानीय कृषि विज्ञान केन्द्र में पोषण वाटिका महा अभियान एवं वृक्षारोपण कार्यक्रम का अयोजन किया गया। इस कार्यक्रम के तहत कृषि विज्ञान केंद्र में किसान गोष्ठी का आयोजन किया गया था। इसका उद्घाटन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में इफको के पदाधिकारी भानु प्रताप सिंह उपस्थित थे।

मुख्य अतिथि ने पोषक तत्व एवं नैनो यूरिया के बारे में विस्तार पूर्वक चर्चा की। कार्यक्रम में वैज्ञानिक धर्मा उरॉव ने सतत कृषि एवं ग्रामीण आजीविका पर वृक्षारोपण की भूमिका पर प्रकाश डाला।उन्होंने महिलाओं एवं कृषकों को ज्यादा से ज्यादा मोटे अनाजों की उपयोग किए जाने की सलाह दी।

जिससे कि उनका खानपान पूर्व की भांति बना रहे। यह भी बताया कि आज परिप्रेक्ष्य में हमें जौ का अत्यधिक मात्रा में उपयोग करना चाहिए, जो हमारे शारीरिक दृष्टिकोण से काफी उपयोगी एवं लाभदायक है।जौ हमारे शरीर एवं पाचन तंत्र को बहुत ही सुदृढ़ बनाता है। कार्यक्रम में महिलाओं एवं किसानों को इफको कंपनी के द्वारा उपलब्ध कराए गये अमरूद, नींबू एवं बेल आदि के पौधे वितरित किये गये। सभी को पोषण वाटिका हेतु धनिया, गाजर, मूली, पालक, मेथी, सोया, लौकी इत्यादि सब्जियों की बीज किट उपलब्ध कराई गई।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में वैज्ञानिक डॉ. वीपी राय ने पोषण वाटिका के फायदे वर्षभर सब्जी प्राप्त करने हेतु फसल चक्र वार्षिक कैलेंडर तथा कुपोषण निवारण में फल एवं सब्जियों के महत्व पोषक थाली आदि पर विस्तृत चर्चा की गई । कार्यक्रम में वैज्ञानिक विनोद कुमार पाण्डेय ने महिलाओं को अपने घर के आसपास उपलब्ध जगह में फल के पौधे लगाने हेतु प्रेरित किया।

इसके बाद कृषि विज्ञान केंद्र में किसानों के साथ मिलकर एक वृहद वृक्षारोपण का भी कार्यक्रम किया गया। इस कार्यक्रम में चतरा जिले के विभिन्न ग्रामों के करीब 125 किसानों ने भाग लिय। कार्यक्रम को सफल बनाने में कृषि विज्ञान केन्द्र के उपेन्द्र कुमार सिंह, मो0 जुनैद आलम, नवल किशोर ,अभिषेक घोष, लालमन ठाकुर, बसंत ठाकुर रवि कुमार, पतरसिया टोप्पो आदि ने अहम भूमिका निभाई।

खबरें और भी हैं...