कार्रवाई:कैलाश हत्याकांड के आरोपी मुकेश और छोटू के घर हुई कुर्की

बेंगाबाद9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पुलिस ने खपरैल मकान को भी किया क्षतिग्रस्त, दरवाजा व खिड़की तक उखाड़कर ले गए, घरवाले भी मौके से हुए फरार

कैलाश हत्याकांड के मामले में मुख्य आरोपी मुकेश राय और छोटू राय के घर में न्यायालय के आदेशानुसार गुरुवार को मोतीलेदा गांव में बेंगाबाद प्रशासन की बनी टीम ने चार घंटे तक कुर्की की। इस कुर्की में भारी संख्या में प्रशासन महिला पुरुष बल मौजूद थे। सबसे पहले मुकेश राय के घर में रखे सारे सामान को बेंगाबाद पुलिस ने जब्त कर लिया साथ ही खपरैल बने घर को नष्ट कर दी। पुलिस के जवानों ने खपरैल बने घर ंके ऊपर चढ़कर खपरैल को चकनाचूर करते हुए घर में लगे। दरवाजा व खिड़की को भी उखाड़कर जब्त कर लिया। इधर गांव पुलिस पहुंचते ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। हालांकि पुलिस के कड़े रूख को देखते हुए ग्रामीण दूर से ही नजर बनाए हुए थी। मुकेश राय का एक नया मकान में लगी दरवाजा को तोड़कर पुलिस प्रवेश की वहीं घर के अंदर लगी दरवाजा खिड़की व टेबल को जब्त कर बेंगाबाद थाना लाया गया।

कुर्की के दौरान स्थानीय मुखिया रामकुमार वर्मा और वार्ड सदस्य ने पहुंचकर पुलिस को मुकेश राय के घर को दिखाते हुए कहा कि मुकेश राय की यह घर है। हालांकि बेंगाबाद प्रशासन ने स्थानीय पूर्व मुखिया रामकुमार वर्मा को गवाह के रूप में इकरारनामा कराते हुए नए घर में रखे सारा सामान को कुर्की कर ली। वहीं छोटू राय के घर से भी कुर्की कर घरेलू सामान जब्त किया गया।

हालांकि इस समय परिजन घर छोड़कर इधर-उधर हो गए थे। वहीं आरोपी की मां का कहना है कि आजकल के बेटे अपनी मां की बात कहां सुनते हैं, आज ऐसा तबाही हो गया है कि आए दिन रोजाना पुलिस बिना बेवजह तंग करती है, हालांकि अपने पुत्र का दोष भी बता रही थी। मौके पर आईएस प्रशिक्षु निशा कुमारी, अंचलाधिकारी संजय सिंह, थाना प्रभारी श्रीकांत ओझा, एसआई ओपी चौहान, पंकज दुबे, एएसआई सुनील सिंह, डीके सिंह, अंचल निरीक्षक ऋषि राज सहित भारी संख्या में महिला पुरुष बल मौजूद थे।

क्या था मामला: बीते 25 अगस्त 2020 की रात को राजद नेता कैलाश यादव की हत्या कर दी गई थी। जिसका मुख्य आरोपी बेंगाबाद थाना क्षेत्र के मोतीलेदा निवासी सुखदेव राय के पुत्र राजेश राय, मुकेश राय, बिक्की राय, सुखदेव राय, जनार्दन राय, छोटू राय शामिल था। पुलिस कई आरोपी को गिरफ्तार भी किया वहीं मुख्य सरगना राजेश राय मधुपुर कोर्ट में सरेंडर किया था जबकि मुकेश राय और छोटू राय अब भी पुलिस की गिरफ्त से फरार चल रहा था।

वहीं न्यायालय के आदेशानुसार उनके घर में ढोल बजाकर इश्तेहार भी चिपकाया गया था लेकिन मुकेश राय और छोटू राय ने पुलिस के पास सरेंडर नहीं किया हालांकि इस मामले में आरोपी के घरों की महिला को भी पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ की लेकिन आरोपी ने आत्मसमर्पण नहीं किया। वहीं कुर्की जब्ती वारंट लेकर बेंगाबाद पुलिस ने गुरुवार को कुर्की के दौरान घर में रखे सारे सामान को जप्त कर लिया साथ ही उनकेअचल संपत्ति को नष्ट कर दी।

बता दें कि राजद नेता कैलाश यादव की हत्या निर्मम अपराधियों ने पीट-पीटकर कर दिया था इस मामले में प्राथमिकी दर्ज की थी। इधर इस मामले में अंचलाअधिकारी संजय सिंह और बेंगाबाद थाना प्रभारी श्रीकांत ओझा ने कहा है कि न्यायालय के आदेशानुसार घर की कुर्की की गई है।

खबरें और भी हैं...