नियमों की अनदेखी:सूचना के बाद भी अवैध खदान तक नहीं पहुंच पाए डीएमओ

दुमका7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पत्थर माफियाओं ने रास्ते को बंद कर दिया था जिसके कारण नहीं हो सकी जांच

जिला खनन पदाधिकारी कृष्ण कुमार किस्कू रविवार को पत्थर औद्योगिक एरिया शिकारीपाड़ा पहुंचे। जहां उन्हें सूचना मिली थी कि चीरापाथर इलाके में कई अवैध खदान संचालित हो रहे हैं, पर डीएमओ जैसे ही चिरा पाथर इलाके की ओर बढ़े अवैध माफिया को सूचना मिल गई और उन्होंने खदान जाने वाले रास्तों पर अवरोध खड़ा कर दिया।

बड़े-बड़े ट्रकों को रास्ते में बीचो-बीच खड़ा कर दिया गया। जिस कारण डीएमओ वहां तक नहीं पहुंच पाए। जानकारी के अनुसार चीरापाथर में कई अवैध खदान धड़ल्ले से संचालित हो रहे हैं। इसके पहले डीएमओ शिकारीपाड़ा के पत्थर खनन और क्रेशर मालिकों के साथ बैठक की। मकड़ापहाड़ी पत्थर एसोसिएशन के कार्यालय में आयोजित बैठक में जिला खनन पदाधिकारी कृष्ण कुमार किसकू ने पत्थर खनन पट्टाधारियों एवं क्रशर मालिकों से कहा कि पत्थर उत्खनन एवं क्रशर को लेकर जो गाइडलाइन राज्य सरकार के द्वारा जारी किया गया है।

उसी गाइडलाइन के अनुरूप पत्थर खदान एवं क्रशर को चलाया जाए। यदि मापदंडों का अनुपालन नहीं किया गया तो प्रशासन की तरफ से कड़ी कानूनी कार्रवाई किया जाएगा। खनन पदाधिकारी ने उपस्थित पत्थर खनन मालिकों से कहा कि यदि आप प्रशासन को साथ देते हैं तो प्रशासन भी आपको सहयोग करेगा। डीएमओ ने कहा कि माइनिंग एक्ट के तहत खदान और क्रशर इलाके के आसपास पेड़-पौधे लगाए जाए। साथ ही नियमित रूप से पानी का छिड़काव किया जाए।

खबरें और भी हैं...