अनाज का वितरण:अनाज में गड़बड़ी को लेकर घाटकुल में ग्रामीणों का हंगामा, जांच की मांग की

गांडेय2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गांडेय प्रखंड के घाटकुल में मंगलवार को ग्रामीणों ने राशन वितरण में गड़बड़ी को लेकर जमकर हंगामा किया। ग्रामीणों ने विभागीय मिलीभगत से जन वितरण प्रणाली दुकानदार पर सितम्बर माह के अनाज में गड़बड़ी का आरोप लगाया। घटना की सूचना पर घाटकुल पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि अब्दुल हफीज घटनास्थल पर पहुंचे तथा जनवितरण प्रणाली दुकान के स्टाॅक की जांच की।

बाद में ग्रामीणों को अनाज दिलाने के आश्वासन दिया तब ग्रामीण शांत हुए। जानकारी के अनुसार गांगेय प्रखंड के घाटकुल में जनवितरण प्रणाली के दुकानदार द्वारा सितम्बर माह का अनाज कार्डधारकों के बीच वितरण नहीं किया गया है। वर्तमान समय में केंद्र सरकार के निर्देश पर कोरोना काल को लेकर कार्डधारकों के बीच महीने में दो बार अनाज का वितरण किया जाना है।

केंद्र सरकार द्वारा नवम्बर माह तक कार्डधारकों को महीने में दो बार अनाज देने का प्रावधान है। जनवितरण प्रणाली के दुकानदार द्वारा कार्डधारकों को महीने में एक बार निःशुल्क व एक बार एक रुपये प्रति किलोग्राम की दर से अनाज वितरण करना है पर घाटकुल के जनवितरण प्रणाली के दुकानदार द्वारा अनाज लैप्स बताकर जुलाई माह का अनाज भी कार्डधारकों के बीच नहीं बांटा गया है और अब विभागीय मिलीभगत से सितम्बर माह का अनाज भी लैप्स बताकर कार्डधारकों को नहीं दिया जा रहा है।

ग्रामीणों ने बताया कि जनवितरण प्रणाली दुकान में अक्टूबर माह का अनाज दस दिन पहले आ गया है पर सितम्बर माह का अनाज को लैप्स बताकर कार्डधारकों को ठगा जा रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि विभागीय मिलीभगत से गरीबों के अनाज को जनवितरण प्रणाली के दुकानदार हड़प रहे हैं। घाटकुल के मो नूर ने बताया कि जनवितरण प्रणाली के दुकानदार द्वारा सितम्बर माह का अनाज नहीं देने की शिकायत गांगेय के आपूर्ति पदाधिकारी से की इसपर उन्होंने पुरे झारखंड में सितम्बर माह के अनाज को लैप्स बताकर अपना पल्ला झाड़ लिया।

जब सितम्बर माह के अनाज वितरण में कोताही को लेकर उसने विभाग के उच्च अधिकारियों के पास गुहार लगाने की बात कही तो एमओ द्वारा उसके कार्ड को निरस्त करने की धमकी दी। तब ग्रामीणों ने मंगलवार को एकजुट होकर घाटकुल के जनवितरण प्रणाली दुकानदार के समीप हो हंगामा किया तथा अनाज वितरण में गड़बड़ी को लेकर विभाग से पहल की मांग की।

खबरें और भी हैं...