तबाही:सरिया में धान की फसल रौंद रहा है जंगली हाथियों का झुंड, कई किसानों को नुकसान

सरियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • खेत से खलिहान तक पहुंच गए 25 जंगली हाथी, भगाने में असमर्थ हो चुका है वन विभाग

सरिया के गडैया, चिचाकी, रतनाडीह व पुरनीडीह क्षेत्र में शुक्रवार की देर रात 25 जंगली हाथियों का झुंड पहुंच गया है। जाे धान की फसल को लगातार रौंद रहा है। अब तक लगभग एक एकड़ से अधिक में लगे धान की फसल को हाथी बर्बाद कर चुके हैं। आलम यह है कि हाथी खेत से खलिहान तक पहुंच गए हैं और धान जितना खा रहे हैं उससे कहीं जयादा बर्बाद कर रहे हैं। हाथियों की इतनी बड़ी संख्या और उसके उग्र रूप से लोगों में भारी दहशत है।

लोग रात रात भर जाग कर बिता रहे हैं। हाथियों का उत्पात नहीं थमा तो गांव के बाहरी किनारे पर बसे लोग सुरक्षित स्थान के लिए भी जा सकते हैं। वन विभाग की ओर से ऐसी कोई मुकम्मल कार्रवाई नहीं की गई है जिससे फसल को रौंदते हाथी को रोका जा सके और गांंव में फैले दहशत को कम किया जा सके। विभाग व स्थानीय लोग मशाल जलाकर व पटाखे फोड़कर हाथियों को खदेड़ने का प्रयास कर रहा हैं, लेकिन यह काम नहीं कर रहा है।

तीन महीने के भीतर हाथियों ने चार लोगों को कुचलकर का मार डाला
गौरतलब है कि दुर्गापूजा के समय में सरिया थाना क्षेत्र के अम्बाडीह गांव में हाथियों ने दो लोगों को कुचलकर कर मार डाला था। इसके दो माह पूर्व सखुवाडीह में भी हाथियों के कुचलने से दो लोगों की मौत हो गयी थी । लगातार हाथियों का यह झुंड क्षेत्र में उत्पात मचा रहा है । वन विभाग द्वारा समय समय पर हाथियों को क्षेत्र से खदेड़ा भी जाता है पर फिर घुमफिरकर हाथी क्षेत्र में आ ही जातें हैं। इससे लोगों में दहशत है । लोगों की मांग है कि हाथियों की समस्या का स्थायी समाधान ढूंढा जाय। ताकि बार बार के परेशानी और जान माल की क्षति से बचा जा सके ।

वन पदाधिकारियों ने कहा-सतर्क रहें लोग
इस बाबत वन प्रक्षेत्र पदाधिकारी सुरेश राम ने बताया कि हाथियों का झुंड अभी भी क्षेत्र में ही हैं। इसे खदेड़ने का प्रयास किया जा रहा है। इस दौरान क्षेत्र के लोग सतर्क रहें और जंगल या जंगल से सटे क्षेत्र में ना जाएं, सावधानी बरतें।

खबरें और भी हैं...