पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बैठक:बोर्ड की बैठक में हुआ तय, जब तक टोल प्लाजा का टेंडर नहीं तब तक वसूली नहीं

गिरिडीह2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • निगम बोर्ड की बैठक में योजनाओं की स्वीकृति के साथ-साथ घपला-घोटालों का मामला भी उठा
  • वार्ड पार्षदों ने कहा टोल में घपला बर्दाश्त नहीं, टैक्स कलेक्शन में लगी कंपनी को हटाकर नगर निगम कर्मियों को काम पर लगाएं

नगर निगम बोर्ड की बैठक में योजनाओं की स्वीकृति के साथ घपला-घोटाला और अनियमितता का मामला छाया रहा। टोल वसूली में घपला पर काफी देर तक चर्चा हुई। वार्ड पार्षदों ने एक स्वर में बेंच थपथपा कर कहा टोल वसूली में घपला बर्दाश्त नहीं। इसलिए जबतक टेंडर नहीं तबतक टोल वसूली नहीं।

पेयजल आपूर्ति में मशीनों की मरम्मत और एलएम ब्लीचिंग के नाम पर राशि की बंदरबांट का मामला भी उठा। साथ ही यह भी तय कर लिया कि टैक्स की वसूली किसी कंपनी से कराने की बजाय निगम ही सीधे रूप से करे, कंपनी से काम लेेने से निगम को आर्थिक नुकसान हो रहा है। बैठक की अध्यक्षता उप महापौर प्रकाश सेठ ने की। जबकि बैठक में गिरिडीह विधायक सुदिव्य कुमार सोनू, उप नगर आयुक्त राजेश कुमार प्रजापति और वार्ड पार्षद मौजूद थे। बैठक में लिए गए प्रस्ताव के बारे में डिप्टी मेयर ने जानकारी दी।

साथ ही वार्ड पार्षद शैफ अली गुड्‌डू ने भी बताया कि पानी से लेकर कर वसूली में हो रहे घपले को सदन में उठाया गया है। बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग का ना ख्याल रखा गया और ना ही सबों ने मास्क ही पहना था। उप नगर आयुक्त तो बगैर मास्क के ही बैठक में शामिल हुए। डिप्टी मेयर प्रकाश सेठ ने मास्क गले से लटका रखा था और विधायक ने भी ठीक तरीके से मास्क नहीं लगाया था।

इन गड़बड़ियों पर उठे सवाल
नगर निगम बोर्ड की पटल पर टोल में घपला के अलावा पेयजल आपूर्ति में भी घपला का मामला गरमाया रहा। पेयजल आपूर्ति में वार्ड पार्षदों ने संवेदक के अलावा जेई-एई पर भी राशि बंदरबांट का आरोप लगाया। एलएम और ब्लीचिंग का भी बंदरबांट हुआ है। चापाकल की मरम्मत के नाम पर भी राशि की बंदरबांट हुई। पहले 8-10 लाख रुपए में चापानल की मरम्मत शहर भर में की जाती थी। अब 50 लाख रुपया मरम्मत के लिए दिया गया। लेकिन इसके बावजूद शहर के चापानलों की मरम्मत नहीं हुई। जलकर, होल्डिंग टैक्स वसूली में भी अनियमितता का मामला उठा। इसके खिलाफ सरकार को पत्र लिखने का निर्णय हुआ।

इस बार टेंडर से भागा तो होगी कानूनी कार्रवाई : टोल वसूली में बोली लगा कर गायब हो जाने वाले के खिलाफ अब निगम सख्ती दिखाएगा। बोली लगा कर एग्रीमेंट नहीं किया तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अागे टेंडर में वैसे व्यक्ति को हिस्सा ही नहीं लेने दिया जाएगा। ब्लैक लिस्टेड भी किया जाएगा। ऐसा नहीं करने से फिर से टेंडर प्रभावित होगा।

टोल हटाने के बाद भी जारी रहा वसूली
टोल वसूली में घपला उजागर होने के बाद निगम ने टोल हटाने का आदेश बुधवार को ही जारी कर दिया। लेकिन इसके बावजूद बुधवार दिन-रात जगह- जगह टोल वसूली जारी रहा। अजीडीह, पचंबा और पपरवाटांड़ में जगह बदल-बदल कर लोग टोल वसूली करते रहे। जिसकी सूचना रात में ही उप नगर आयुक्त राजेश कुमार प्रजापति को दे दी गई थी।

इन योजनाओं को किया स्वीकृत
पूरे शहर में अब इएएसल कंपनी लाइट लगाएगी और उसका रखरखाव करेगी। हालांकि इस कंपनी से पहले भी लाइट लगवाने का प्रस्ताव लाया गया था, लेकिन इसे पारित नहीं किया गया था। साफ सफाई के लिए एक बॉबकट व जेसीबी खरीदने और नियमित पेयजल आपूर्ति के लिए दो मोटर भी खरीदने का प्रास्तव पारित हुआ। हर वार्ड में वाटर मिनी प्लांट लगेगा। जिसमें बोरिंग करा कर वाटर सप्लाई की जाएगी। उसरी नदी का पानी गंदा नहीं हो इसके लिए शहर के प्रमुख छह घाटों में छोटा ट्रीटमेंट प्लांट लगेगा।

योजनाओं के लिए राशि दिलाने की जिम्मेवारी हमारी : विधायक
गिरिडीह विधायक सुदिव्य कुमार ने योजनाओं के चयन में खर्च होनेवाली राशि सरकार से उपलब्ध कराने की जिम्मेवारी ली। उन्होंने पूर्व की तरह पार्षदों को 2-2 मजदूर देने की सिफारिश की। कहा 6 नए वार्डों में ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपको कई सुअवसर प्रदान करने वाली हैं। इनका भरपूर सम्मान करें। कहीं पूंजी निवेश करने के लिए सोच रहे हैं तो तुरंत कर दीजिए। भाइयों अथवा निकट संबंधी के साथ कुछ लाभकारी योजना...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser