कार्रवाई / बेल्जियम की बियर की तस्करी मामले में पूर्व वार्ड पार्षद शिवम आजाद सहित 10 पर केस

Case of 10 including former ward councilor Shivam Azad in Belgian beer smuggling case
X
Case of 10 including former ward councilor Shivam Azad in Belgian beer smuggling case

  • लंबे समय से मेड इन बेल्जियम की बियर की हो रही थी आपूर्ति, दिल्ली के लक्ष्मीनगर के आलोक विवरेज में बोटलिंग की गई, धंधेबाजाें के आपसी विवाद के कारण ही धनबाद से शराब लदी ट्रक आगे बढ़ते ही पुलिस को सूचना दे दी थी

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 07:05 AM IST

गिरिडीह. झारखंड-बिहार के विभिन्न जिलों में शराब तस्करी का सेंटर प्वाइंट गिरिडीह बन चुका है। इस अवैध कारोबार में जिले का एक बड़ा नेटवर्क काम कर रहा है, जिसमें धनबाद के भी कुछ लोग शामिल हैं। लेकिन इस बार मुफस्सिल पुलिस ने बंद एसआरएस फैक्ट्री से बियर की बड़ी खेप जो बरामद की है वह मेड इन बेल्जियम का है। करीब 3 लाख की बियर पुलिस ने औद्योगिक क्षेत्र मोहनपुर में स्थित बंद एसआरएस फैक्ट्री से बरामद की गई है। जिसके मुख्य कारोबारी शहर के पूर्व वार्ड पार्षद शिवम आजाद हैं।

शिवम आजाद के अलावा पुलिस ने कुल 10 लोगों को इस मामले में नामजद अभियुक्त बनाया है। जिसमें 4 लोगों को गिरफ्तार जेल भेज दिया गया है। पुलिस के मुताबिक यह कारोबार लंबे समय से किया जा रहा था, लेकिन पुलिस को भनक भी नहीं मिल रही थी। लेकिन कारोबारियों की आपसी विवाद की वजह से सोमवार को शराब लदी ट्रक ज्योंही धनबाद से आगे बढ़ी कि पुलिस को इसकी खबर मिल गई। जिसका परिणाम हुआ कि ट्रक से अनलोड करते ही पुलिस ने रंगे हाथ दबोच लिया। हालांकि मौके पर सिर्फ शराब ढोने वाले लोग ही दबोचे जा सके। जबकि असली कारोबारी सारा कुछ मोबाईल से ही मैनेज करने में जुटा था। लेकिन पूरे मामले पर आईपीएस कुमार गौरव की नजर पूरे मामले पर थी। सोमवार रात से लेकर मंगलवार को दिनभर पूरे मामले को खंगालने के बाद कुमार गौरव के निर्देश पर प्राथमिकी दर्ज की गई। कुल 10 लोगांे को अभियुक्त बनाया गया है।

सअनि जीतेन्द्र कुमार के अभ्यावेदन पर मुफस्सिल थाने में कांड संख्या 147/2020 के तहत प्राथमिकी दर्ज किया गया है। पुलिस के मुताबिक जिस बंद फैक्ट्री से शराब बरामद की गई है उस फैक्ट्री को बैंक ने टेकओवर कर लिया है। लेकिन सच्चाई ये है कि फैक्ट्री मालिक के पुत्र मनीष से बात कर शिवम आजाद ने उसमें शराब लदी ट्रक को इंट्री कराया था। मनीष के फोन करने पर ही वहां तैनात गार्ड ने फैक्ट्री का गेट खोला था। जबकि इसमें सच यह भी है कि फैक्ट्री मालिक का पुत्र मनीष कंधवे फिलहाल कोरोना से ग्रस्त दिल्ली में इलाजरत हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना