पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हिंदी दिवस:हिंदी की तरक्की के लिए इसकी हर बाधाओं काे दूर करने का सभी को लेना होगा संकल्प: प्राचार्य

गिरिडीह9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रोजेक्ट बालिका उच्च विद्यालय में बनहत्ति स्थित स्कॉलर बीएड कॉलेज में हिंदी दिवस पर सेमिनार का आयाेजन

प्रोजेक्ट बालिका उच्च विद्यालय में बनहत्ति स्थित स्कॉलर बीएड कॉलेज के प्रशिक्षुओं ने हिंदी दिवस पर सेमिनार का आयाेजन किया गया। जिसमें विद्यालय की छात्र-छात्राओं ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। सेमिनार मे उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली छात्राओं को पुरस्कृत किया गया। छात्राओं ने कहा कि आजादी के आंदोलन के समय यह हिंदी की ही शक्ति थी, जिसने पूरे देश को एक सूत्र में पिरोया था और आंदोलन को नई दिशा दी थी।

कौन भूल सकेगा नेता जी सुभाष चंद्र बोस के उद्घोष तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा। इस नारा ने लाखों लोगों को स्वतंत्रता के यज्ञ में आहुति देने के लिए प्रेरित कर दिया। यह किसी भाषा की ही शक्ति हो सकती है जो इतिहास बदल सकती है। भाषा को राष्ट्रीय एकता का पर्याय भी कहा जाता है। हिंदी भाषा को एकदिवसीय उत्सव ना बनाकर इसकी राह में आने वाले हर बाधाओं को दूर करने का प्रयास करने और इसे विशाल और वृहद करने का प्रयास करने का संकल्प दिलाया। सेमिनार को सफल बनाने में विनोद हांसदा, मुकेश कुमार साह और प्रियांशी कश्यप आदि प्रशिक्षुओं ने अपना योगदान दिया।

हिंदी तो मां की तरह है: शालिनी खोवाला
प्राचार्य शालिनी खोवाला ने कहा कि हिंदी देश की भाषा है यह हर भारतीयों की अभिलाषा है। हिंदी हमारे रग रग में बसा है। बगैर हिंदी के हम सहज अनुभव नहीं करते, चाहे लिखने की बात हो या पढ़ने की। हिंदी सरल है, हिंदी सरस है, हिंदी बोल कर ही हम अपनी भावनाओं को सही तरह से प्रकट कर सकते हैं और सामने वाले की भावनाओं को अनुभव भी कर सकते हैं। हिंदी तो मां की तरह है जिसके साथ हम कभी असहज महसूस नहीं करते। कहा कि हिंदी समृद्ध है तो इस समृद्धि के और फैलाव की जरूरत है। हमें हिंदी का प्रयोग घर से लेकर दफ्तर तक में करना होगा।

पीएनडी जैन उच्च विद्यालय में भाषण प्रतियोगिता

डुमरी|पीएनडी जैन उच्च विद्यालय इसरी बाजार में हिन्दी दिवस पर मंगलवार को ऑनलाइन भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रधानाध्यापक सुनील कुमार जैन के उद्घाटन भाषण के साथ कार्यक्रम का प्रारंभ हुआ। इस मौके पर हिन्दी विभाग के डाॅ. श्याम कुमार सिंह एवं माधुरी कुमारी ने छात्र-छात्रओं को हिन्दी भाषा के महत्व से अवगत कराया। कार्यक्रम का संचालन विज्ञान शिक्षक देवेश कुमार देव ने किया। कार्यक्रम में कोमल कुमारी, काजल कुमारी, सन्नी कुमार, श्रेयांस जैन, मृणाल सामंता ने हिन्दी की महत्ता और उसके बेहतरी पर प्रकाश डाला।

खबरें और भी हैं...