पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मंत्री की कुर्सी मिली:1977 में गठित कोडरमा लोकसभा क्षेत्र को, पहली बार मिली केंद्रीय मंत्रीमंडल में जगह

गिरिडीहएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भाजपा में सांसद बनते ही प्रदेश उपाध्यक्ष बनीं, फिर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और अब मिली कैबिनेट मंत्री की कुर्सी

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में बुधवार को हुए फेरबदल में कोडरमा लोकसभा को पहली बार जगह मिली। यानि कहा जाए तो 1977 में गठित कोडरमा लोकसभा को पहली दफा कोडरमा लोकसभा को केन्द्र सरकार ने अपनी नजरों से देखा है और यहां की सांसद अन्नपूर्णा देवी को केन्द्रीय मंत्रालय में जगह मिली। कोडरमा लोकसभा के खाते में पहली बार मंत्री का नाम दर्ज हुआ है। 2019 में राजद छोड़ भाजपा में शामिल हुई अन्नपूर्णा देवी ने इस सीट से रिकॉर्ड मतों से जीत हासिल की थी।

जीत के साथ ही पार्टी ने पहले प्रदेश उपाध्यक्ष की जिम्मेवारी दी फिर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का पद दिया और अब कैबिनेट मंत्री की सौगात मिली। इससे पहले इन्हें हरियाणा का सह प्रभारी भी बनाया गया था। बुधवार को उनके मंत्री पद की शपथ लेने के साथ क्षेत्र में खुशी की लहर दौड़ गयी है। अन्नपूर्णा देवी वर्तमान में कोडरमा लोकसभा के 12वीं सांसद हैं। इससे पहले रीतलाल प्रसाद वर्मा 5 बार भाजपा से सांसद रहे, लेकिन उन्हें यह सौभाग्य नहीं मिल पाया। जबकि बाबूलाल मरांडी व रवीन्द्र राय भी भाजपा से एक-एक बार सांसद रहे। लेकिन इतिहास अन्नपूर्णा देवी के ही नाम ही दर्ज होना था। जानकारी के मुताबिक मंत्री पद की दौड़ में चंद्रप्रकाश चौधरी के नाम की भी चर्चा थी। लेकिन अन्‍नपूर्णा देवी का नाम आ जाने के बाद संभावना खत्‍म हो गई हैं। सब कुछ तय होने के बाद पार्टी के बुलावे पर मंगलवार को ही अन्‍नपूर्णा देवी दिल्‍ली पहुंच चुकी थी। जहां बुधवार को पद व गोपनीयता की शपथ ली।

खबरें और भी हैं...