पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मालवाहक वाहन:उसरी नदी की तेज धार में बहे मनीष का शव बरामद

गिरिडीह12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मुफ्फसिल थाना पुलिस ने उसरी नदी में 22 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद बुधवार काे 1:30 बजे अपराह्न 29 वर्षीय मनीष यादव का शव उसरी नदी की गहरे पानी से खाेज कर निकाला। पुलिस शव काे अपने कब्जे में लेकर पाेस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है। शव काे नदी से बाहर निकलते ही मनीष यादव की बहन अनमाेल देवी, भगिना और उसकी पत्नी दहाड़ मारकर नदी तट पर ही राेने-पीटने लगी। नगर थाना क्षेत्र के अरगाघाट निवासी हरेन्द्र यादव का शाला मनीष यादव नयी मालवाहक वाहन 709 गिरिडीह में खरीदा था। उस गाड़ी की पूजा कराने के लिए मंगलवार 4 बजे दुखिया महादेव मंदिर गया हुआ था।

वाहन की पूजा करने के लिए वह दुखिया महादेव मंदिर समक्ष उसरी नदी में स्नान करने के लिए गया। स्नान करने के क्रम में अचानक नदी में फिसल जाने से नदी की गहरे पानी में चला गया। मनीष यादव कुछ देर के बाद जब पानी से बाहर नहीं निकला ताे परिजन हल्ला करने लगा। हल्ला सुनकर काफी संख्या में लाेग घटना स्थल पर पहुंचकर श्री यादव काे नदी में ढूंढने लगे। काफी प्रयास करने के बाद जब लाेगाें काे काेई सफलता नहीं मिला ताे स्थानीय लाेगाें ने इस घटना की सूचना मुफ्फसिल थाना पुलिस काे दिया। एसडीपीओ ने मनीष यादव काे खाेजने के लिए खंडाेली डैम से नाव काे मंगवाया। परसाटांड़ के मछली पकड़ने वाला मल्लाह ने उसरी नदी की 15 फीट गहरे पानी में गाेता लगाकर मनीष का शव बाहर निकाला।

इस संबंध में एसडीपीओ ने कहा की खंडाैली के बीके मिश्रा एवं परसाटांड़ के मल्लाह के संयुक्त प्रयास से उसरी नदी की गहरे पानी से शव काे कड़ी मशक्कत के बाद निकाला। उन्हाेंने कहा कि वर्तमान में नदी में 15 फीट से अधिक पानी है। मनीष यादव नदी की जिस स्थान पर फिसल कर गिरा था उसी जगह वह गहरे पानी अंदर पत्थर की चट्टान मेंं फंस जाने से बाहर नहीं निकल सका, जिसके कारण उसकी माैत हाे गई।

खबरें और भी हैं...