रक्षाबंधन का त्याेहार:दिनभर रहेगा राखी बांधने का शुभ मुहूर्त, सुबह 6:15 से लेकर शाम 5:31 बजे तक बहनें बांध सकेंगी राखी

गिरिडीह4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • घनिष्ठ और शाेभन याेग में मनाया जाएगा रक्षाबंधन का त्याेहार

रक्षाबंधन का त्योहार बहन-भाई के बीच प्रेम का प्रतीक है। इसमें बहन भाई को तिलक लगाकर उसके दीर्घायु की कामना करती हैं। भाई भी जीवन भर बहन के सुख-दुख में साथ निभाने का वादा करता है और स्नेह स्वरूप बहन को उपहार भी देता है। इस त्योहार को प्राचीन काल से मनाने की परंपरा चली आ रही है। इस पर्व को हिंदी पंचांग के श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है।

पूर्णिमा के दिन मनाएं जाने कि वजह से कई जगह इसे राखी पूर्णिमा भी कहते हैं। इस साल रक्षाबंधन का त्याेहार 22 अगस्त, रविवार को मनाया जाएगा। इस बार शाम 5:31 बजे तक राखी का शुभ मुहूर्त है। इस बार राखी की तिथि एक दिन पहले 21 अगस्त को लग जाएगी और 22 अगस्त को शाम 5 बजे तक रहेगी। इसलिए उदयातिथि रहने के कराण 22 अगस्त को यह त्योहार मनाया जाएगा। इस बार रक्षा बंधन पर घनिष्ठा और शोभन योग बन रहे हैं। इन दोनों योग बनने के कारण इस त्योहार का शुभफल बढ़ जाएगा।

रक्षा बंधन 2021 शुभ मुहूर्त

हिंदू पंचांग के अनुसार, सावन के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि 21 अगस्त की शाम 7 बजे से शुरू होगी। जो कि 22 अगस्त की शाम 5:31 बजे तक रहेगी। रक्षा बंधन उदया तिथि में 22 अगस्त को मनाया जाएगा। पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान कृष्ण को महारानी द्रोपदी द्वारा शिशुपाल के वध के बाद कटे हुए अंगुलियों पर साड़ी का पट्टी बांधा गया था। जिसे रक्षा सूत्र मानते हुए भगवान कृष्ण ने भविष्य में रक्षा का वचन दिया था। फलस्वरूप चीर हरण के दौरान उन्होंने द्रोपदी की लाज की रक्षा की थी। वहीं महारानी दुर्गावती ने हुमायूं को रक्षा सूत्र बांधकर रक्षा करने का वचन लिया था। समय आने पर हुमायूं ने एक भाई का धर्म निर्वाह करते हुए दुर्गावती की रक्षा की थी।

रक्षा बांधते वक्त इस मंत्र का जाप करें

  • येन बद्धो बलि: राजा दानवेंद्रो महाबल।
  • तेन त्वामपि बध्नामि रक्षे मा चल मा चल।

इस मंत्र के शाब्दिक अर्थ में बहन रक्षासूत्र बांधते वक्त कहती है कि जिस रक्षा सूत्र से महान शक्तिशाली राजा बलि को बांधा गया था उसी सूत्र से मैं तुम्हें बांधती हूं। हे रक्षे (राखी) तुम अडिग रहना। अपने रक्षा के संकल्प से कभी भी विचलित मत होना।

रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त....

  • पूर्णिमा तिथि प्रारंभ 21 अगस्त, शाम 7 बजे से।
  • पूर्णिमा तिथि समापन 22 अगस्त शाम 5:31 बजे।
  • शुभ मुहूर्त : सुबह 6:15 से शाम 5:31 बजे तक।
  • रक्षा बंधन की समयावधि : 11 घंटे 16 मिनट।
खबरें और भी हैं...