पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सब जोनल कमांडर नुनूचंद ने किया सरेंडर:महिलाओं से दुष्कर्म पर संगठन से निकाले गए नक्सली का समर्पण

गोमो22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • धनबाद का सिरदर्द था 5 लाख का इनामी सब जोनल कमांडर नुनूचंद

महिला नक्सलियों के साथ दुष्कर्म पर माओवादियों ने जब 5 लाख के इनामी नक्सली सब जोनल कमांडर नूनुचंद महतो उर्फ गांधी को संगठन से निकाल दिया तो शनिवार को उसने पुलिस के सामने हथियार डाल दिए। उसके खिलाफ धनबाद के तोपचांची, हरिहरपुर, राजगंज व टुंडी समेत गिरिडीह के मधुबन, पीरटांड़, डुमरी, निमियाघाट, तोपचांची थाने में दर्जनों मामले दर्ज हैं।

लगभग दो दशक से पारसनाथ से लेकर टुंडी की सीमा तक बंदूक का खाैफ जमाने वाला कुख्यात नक्सली नूनुचंद उर्फ गांधी पीरटांड़ प्रखंड के भेलवाडीह गांव का रहने वाला है। कभी अपनी ही जमीन बचाने के लिए नक्सलियों का सहारा लेनेवाला नूनुचंद खुद कुख्यात नक्सली बन बैठा। पारसनाथ क्षेत्र के इनामी नक्सली अजय महतो व राम दयाल महतो के करीबी होने के कारण नूनुचंद का ओहदा बढ़ता गया।

तोपचांची के दारोगा को धक्का देकर भाग गया था नुनूचंद महतो

वर्ष 2020 में होली से ठीक पहले ताेपचांची पुलिस काे सूचना मिली थी कि नेराे में माओवादियाें का दस्ता कहीं बैठकर खाना खा रहा है। सूचना मिलते ही पुलिस ने छापा मारा और नुनूचंद काे हिरासत में ले लिया था। चूंकि पुलिस उसे पहचानती नहीं थी, परंतु पूछताछ के लिए दारोगा शंकर रजक को बाइक पर बिठाकर थाना ले जा रहे थे। इसी दौरान नुनूचंद दारोगा को वह धक्का देकर भाग निकला। बाद में पुलिस को मालूम चला कि भागा व्यक्ति नुनूचंद था। नुनूचंद ने मुखबिर का आराेप लगाते हुए हरिहरपुर थाना क्षेत्र के पावापुर में एक घर में हमला कर एक व्यक्ति, जाे थाना से जुड़ा था, उसकी गाेली मारकर हत्या कर दी थी। लैंड माइंस लगाकर ताेपचांची के सीआरपीएफ जवानाें काे उड़ाने की साजिश में उसकी महत्वपूर्ण भूमिका थी।

खबरें और भी हैं...