पूजा- पाठ / भड़ली नवमी पर आज अबूझ मुहूर्त, 1 जुलाई को देवशयनी एकादशी, रुक जाएंगे शुभ कार्य

X

  • फिर चतुर्मास व अधिकमास को मिलाकर 5 माह के बाद 25 नवंबर से शुरू होंगे शुभ मुहूर्त

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 07:22 AM IST

जामताड़ा. आषाढ़ महीने के शुक्लपक्ष की नवमी तिथि को भड़ली नवमी कहते हैं। यह दिन विवाह और अन्य मांगलिक कार्यों के लिए शुभ मुहूर्त माना जाता है। इस साल भड़ली नवमी का शुभ मुहूर्त 29 जून सोमवार को है। इस दिन गुप्त नवरात्रि का समापन भी होता है। राजस्थान, गुजरात सहित उत्तर और मध्य भारत में भड़ली नवमी को अबूझ मुहूर्त के रूप में बहुत ही खास माना जााता है। इस शुभ मुहूर्त के दो दिन बाद देवशयनी एकादशी है। यानी 1 जुलाई से विवाह, सगाई, मुंडन, गृहप्रवेश सहित अन्य मांगलिक कार्य नहीं होंगे। इस बार अधिकमास होने से देवशयनी 5 महीने तक रहेगी।

नवंबर में 26 और 27 को, दिसंबर में 1 से 11 के बीच विवाह के लिए 7 शुभ मुर्हूत

मई में विवाह और अन्य मांगलिक कार्य के 11 मुहूर्त थे। जून में भड़ली नवमी सहित 6 शुभ मुहूर्त हैं। कोरोना के संक्रमण और लॉकडाउन की वजह से मई में जिन लोगों के विवाह टल गए थे, वे 29 जून को भड़ली नवमी के अबूझ मुहूर्त में विवाह कर सकते हैं। एक जुलाई को देवशयनी एकादशी के साथ चतुर्मास और एक अधिकमास होने से पांच महीने के लिए विवाह जैसे मांगलिक कार्य बंद हो जाएंगे। इसके बाद मुहूर्त सीधे 25 नवंबर के बाद शुरू होंगे। नवंबर में सिर्फ दो दिन 26 और 27 तारीख को तथा दिसंबर में 1 से 11 तक सात दिन विवाह के मुहूर्त रहेंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना