हूल क्रांति दिवस / भोगनाडीह में अमर शहीद सिदाे-कान्हू को किया गया याद

X

  • सिदो कान्हू की छठी पीढ़ी के वंशज की कथित हत्या को लेकर परिजनों ने माल्यार्पण ना करने की की थी अपील

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 07:38 AM IST

साहिबगंज. ब्रिटिश हुकूमत की ईट से ईट बजाने वाले अमर शहीद सिद्धू कान्हू की जन्मस्थली बरहेट स्थित भोगनाडीह में 30 जून को मनाए जाने वाला हुल क्रांति दिवस संभवत: इतिहास में पहली बार नहीं मनाया गया। जिला प्रशासन ने कोरोनावायरस को लेकर जहां गृह मंत्रालय का हवाला देते हुए धार्मिक सांस्कृतिक आयोजन पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने की बात कही थी। वहीं तत्कालीन कारण सिदाे-कान्हू के छठी पीढ़ी के वंशज रामेश्वर मुर्मू की कथित हत्या भी एक कारण बना।

हत्या के विरोध में धरना प्रदर्शनों के बाद अमर शहीद के परिजनों ने इस वर्ष हुल दिवस नहीं मनाने एवं प्रतिमा पर माल्यार्पण नहीं करने की अपील लोगों से की थी। परिजनों का कहना है कि उनके रीति रिवाज के अनुसार जब तक रामेश्वर मुर्मू का श्राद्ध कर्म रीति रिवाज अनुसार नहीं हो जाता तब तक किसी प्रकार का धार्मिक अनुष्ठान उनके यहां वर्जित है। गौरतलब है कि प्रथम जन क्रांति के नाम से मशहूर हुल क्रांति दिवस के अवसर पर भोगनाडीह में प्रशासनिक पदाधिकारियों ने शहीदों के प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की।

एवं एक तरह से कहा जाए तो कार्यक्रम की खानापूर्ति की गई। डीसी,एसपी समेत जिले के पदाधिकारियों ने शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित कर नमन किया। पंचकटिया संथाली में स्थित क्रांति स्थल में भी शहीदों को याद किया गया यहां पर राजमहल के सांसद विजय कुमार हंसदा ने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। यहां बता दें कि साहिबगंज के भोगनाडीह मेंआज के ही दिन 30 जून 1855 को अंग्रेजी हुकूमत के ख़िलाफ़ सिदो-कान्हू के नेतृत्व में आदिवासियों ने विद्रोह कर जंग छेड़ कर एक इतिहास रचा था।सिदो-कान्हू, चांद-भैरव, और फूलो-झानो सहित 20 हजार आदिवासियों ने आज ही अपने देश और समाज के खातिर विद्रोह का विगुल फूंका था। सिद्धो कान्हू ने आदिवासी तथा गैर आदिवासियों को अंग्रेज व महाजनों के अत्याचार से आजाद करने में अहम भूमिका निभायी।

ब्रिटिश हुकूमत की जंजीरों को तार-तार करने वाले इन वीर सपूतों के शहादत की याद में हर वर्ष 30 जून को हूल दिवस मनाया जाता है। परंतु वर्तमान में उत्पन्न कोरोना संकट से इस वर्ष यहां कोई आयोजन नहीं हो सका। हालांकि आज इसी क्रम में उपायुक्त वरुण रंजन तथा पुलिस अधीक्षक अनुरंजन किस्पोट्टा ने सिध्हो कान्हू के गांव बरहेट,भोगनाडीह का भ्रमण किया। उपायुक्त वरुण रंजन तथा एसपी ने भोगनाडीह स्थित सिदाे कान्हू पार्क में सिदाे-कान्हू की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना