शिक्षकों को वेतनमान:पारा शिक्षक संघ की बैठक में आंदोलन की रणनीति पर चर्चा

जामताड़ा22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मेझिया संकुल में पारा शिक्षक संघ की बैठक विकास चंद्र मंडल की अध्यक्षता में हुई। विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की गई। जिलाध्यक्ष सुभाष मिर्धा ने कहा कि पारा शिक्षक, आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका, जल सहिया के परिवारों के लगन और मेहनत के कारण आज झारखंड में। हेमंत सोरेन के नेतृत्व में सरकार बनी। सरकार बनते ही शिक्षा मंत्री आदरणीय जगरनाथ महतो ने कहा कि झारखंड के 65,000 पारा शिक्षकों का स्थायीकरण करेंगे।

फिर कुछ दिन बाद शिक्षा मंत्री का बयान आया की आकलन परीक्षा लेकर झारखंड के सभी पारा शिक्षकों को वेतनमान दिया जाएगा। शिक्षा मंत्री द्वारा दिए गए बयान से पारा शिक्षकों को दिग्भ्रमित किया जा रहा है। अब समय आ गया है पारा शिक्षक गोलबंद होकर आंदोलन की रूपरेखा तैयार करें। सरकार पारा शिक्षकों का मानदेय तत्काल 20 से 25 हजार दें और जिला स्तरीय आकलन परीक्षा लेकर सभी पारा शिक्षकों को वेतनमान से जोड़ा जाए।

जामताड़ा जिले के कुछ पारा शिक्षकों को युक्तिकरण करते हुए मूल विद्यालय से 20- 25 किलोमीटर दूरी पर स्थानांतरण कर दिया गया है। अल्प मानदेय में कठिनाई का सामना करना पड़ता है। रविवार और महापर्व में कार्य करना पड़ता है। जिलाध्यक्ष ने कहा कि युक्तिकरण को ध्यान में रखते हुए एवं रविवार और महत्वपूर्ण पर्व को ध्यान में रखते हुए वैक्सीनेशन किया जाए। मौके पर निखिल चंद्र मंडल, कमल मंडल, निपेन मंडल, राजेश, शिवलाल हांसदा, सुशीला सोरेन, चांदमुनि सोरेन, निपेन मंडल, उज्जवल मंडल, सुभाष मंडल, रोहित अंसारी, अनवर अंसारी, इस्लाम अंसारी, गोविंद टुडू, मोहित मंडल मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...