हूल दिवस / केंदवाटांड़ में हूल दिवस पर सिदाे-कान्हू की प्रतिमा पर नहीं चढ़े फूल

X

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 07:26 AM IST

जामाताड़ा/पबिया. प्रत्येक वर्ष 30 जून को हूल क्रांति दिवस मनाया जाता है। इस संबंध में संथाल परगना के भोगनाडीह के वीर सपूतों सिदाे- कान्हू, चांद- भैरव ,फूलों -झानो के याद में हूल दिवस कार्यक्रम किए जाते रहे। लेकिन झारखंड में एक ऐसा जगह है जहां हूल दिवस के अवसर पर प्रतिमाओं पर न फूल चढ़ाए गए और न ही श्रद्धांजलि अर्पित कर माल्यार्पण किया गया। यह स्थिति जामताड़ा जिला के झिलुवा पंचायत अंतर्गत केंदवाटांड़ गांव का है।

जहां भव्य सिदो कान्हो प्रतिमा स्थापित है। यहां पर मंगलवार को हूल क्रांति दिवस नहीं मनाया गया। इस संबंध में केंदवाटाड़ के ग्राम प्रधान कालीचरण हंसदा से जानकारी मिला। उन्होंने बताया कि सिदो कान्हू के वंशज मे रामेश्वर मुर्मू का बीते 13 जून को संदेहास्पद स्थिति में  मौत हुई है जिसे  उनके वंशज परिवार हत्या कह रहे हैं। इस संबंध में उनके वंशज परिवारों ने ही झारखंड वासियों से अपील किया है कि हूल क्रांति दिवस में कार्यक्रम नहीं मनाना है। इसी  कारण केंदुआटांड़  स्थित प्रतिमा में माल्यार्पण एवं अन्य आयोजन नहीं किया गया।   

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना