पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ओवरब्रिज के निर्माण:फ्लाईओवर बनकर तैयार, चालू होने पर नहीं लगेगा जाम, लोगों को मिलेगी राहत

जामताड़ा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बनकर तैयार बोदमा स्थित फ्लाईओवर। - Dainik Bhaskar
बनकर तैयार बोदमा स्थित फ्लाईओवर।
  • जामताड़ा के बोदमा स्थित रेल फाटक बंद रहने से लगता था जाम

आसनसोल रेल मंडल अंतर्गत बोदमा रेलवे फाटक के समीप फ्लाईओवर बन कर तैयार है वही जामताड़ा रेलवे फाटक के समीप फ्लाई ओवर में 10% और एप्रोच पथ निर्माण का कार्य बाकी है। विभाग की मानें वर्ष 2021 में फ्लाईओवर का उपयोग लोग करेंगे। कार्य एमएस हरदेव कंस्ट्रक्शन कंपनी द्वारा कराया जा रहा है। करीब 23 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले इस ओवरब्रिज के निर्माण के पूर्ण होने से आवागमन करने वालों को रेलवे क्रॉसिंग बंद होने के झंझट से निजात मिल जाता।

परंतु रेल ओवरब्रिज निर्माण कार्य होने के लगभग 5 वर्ष से अधिक का समय व्यतीत हो चुका है। वर्तमान में बोदमा फाटक के पास रेल ओवरब्रिज का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है जबकि जामताड़ा रेलवे फाटक के पास कच्छप गति से चल रहा है। जामताड़ा जिला से होकर प्रत्येक दिन 100 से अधिक ट्रेनें आती जाती हैं। जिस कारण हमेशा फाटक बंद रहता है। फाटक के बंद रहने के कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। ओवरब्रिज निर्माण होने से लोगों को काफी राहत होगी तथा जाम की समस्या से भी शहर को निजात मिल सकेगा।

जामताड़ा शहर में ओवरब्रिज के निर्माण की मांग वर्षों से की जा रही थी। रेलवे द्वारा लोगों की मांग पर करोड़ों की लागत से फ्लाईओवर का निर्माण तो आरंभ किया मगर समय पर ओवरब्रिज का निर्माण नहीं होने से लोगों में मायूसी बढ़ने लगी है।

जल्द से जल्द फ्लाईओवर का उद्घाटन करने की मांग की

बोदमा के पास फ्लाईओवर बनकर पूरी तरह से तैयार है मगर उद्घाटन नहीं किया गया है। जिला वासियों ने मांग किया है कि जहां फ्लाईओवर का निर्माण पूर्ण हो चुका है उसका उद्घाटन अभिलंब कर राष्ट्र को समर्पित कर दिया जाए ताकि लोगों को आवाजाही में दिक्कतों का सामना ना करना पड़े और ओवर ब्रिज निर्माण का उद्देश्य भी पूरा हो। लोगों की निगाहें अब ओवरब्रिज के उद्घाटन का इंतजार कर रही है।

सर्विस रोड का निर्माण भी जल्द किया जाएगा
ओवरब्रिज के दोनों तरफ नीचे सर्विस रोड का निर्माण भी जल्दी किया जाना है। निर्माणाधीन फ्लाईओवर के पास लोग उबर खाबड़ सड़क पर से गुजरने के लिए मजबूर है। हालांकि बोदमा के समीप एक तरफ सर्विस रोड का निर्माण किया गया है। अब रेलवे द्वारा किए जा रहे निर्माण पर लोगों की निगाह टिकी हुई है। हालांकि यह प्रोजेक्ट को दिसंबर 2019 तक पूरा हो जाना चाहिए था। परंतु जमीन अधिग्रहण व बिजली के पोल शिफ्टिंग में हुई देरी के कारण प्रोजेक्ट को समय पर पूरा नहीं किया जा सका है।

फाटक के पास जाम से लोग परेशान
ओवरब्रिज निर्माण कर रहे एजेंसी को जल्द पूरा करने का निर्देश दिया गया है। जामताड़ा में रेल ओवरब्रिज नहीं रहने से आमजन को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जामताड़ा से मिहिजाम रोड फाटक तक आये दिन जाम की स्थिति बनी रहती है। फाटक गिरे रहने से मोड़ पर जाम की स्थिति बन जाती है। कई बार तो 10-10 मिनट तक फाटक बंद रखा जाता है। जामताड़ा और बोदमा रेलवे क्रॉसिंग के समीप रेलवे ओवरब्रिज बनाने का काम लगभग 5 वर्षों से अधिक समय से चल रहा है। यहां के लोगों को ओवरब्रिज पर सफर का इंतजार लगातार बढ़ता जा रहा है।

एक साल से मुख्य सड़क से आवागमन ठप
जामताड़ा रेलवे फाटक के समीप फ्लाईओवर का निर्माण काफी धीमी गति से होने की वजह से लोगों को आवाजाही में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। शहर के बीच स्थित फ्लाईओवर निर्माण पिछले 5 वर्षों से किया जा रहा है। मंडल रेल प्रबंधक आसनसोल द्वारा 2 माह पूर्व स्थल निरीक्षण के उपरांत जल्द से जल्द फ्लाईओवर निर्माण का निर्देश दिया था बावजूद तब तक निर्माण कार्य में तेजी नहीं आई है। शहर के बीच स्थित यह फ्लाईओवर निर्माण एवं एप्रोच पथ के तोड़ दिए जाने से चंचला मंदिर की ओर से गुजरने वाली मुख्य सड़क से बीते 1 वर्ष से आवाजाही पूरी तरह से ठप है। लोगों को आवाजाही के लिए कोर्ट रोड का इस्तेमाल करना पड़ रहा है। लेटलतीफी निर्माण कार्य की वजह से लोगों में विभाग के प्रति रोष बढ़ने लगा है।

खबरें और भी हैं...